Breaking News

8 फरवरी के बाद डिलीट हो सकता है आपका WhatsApp Account, बचने के लिए आज ही कर लें ये काम

नए वर्ष में पॉपुलर इंस्टेंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप (WhatsApp) की पॉलिसी में परिवर्तन होने जा रहा है. इसके संदर्भ में करोड़ों भारतीय यूजर्स को व्हाट्सएप की ओर से एक नोटिफिकेशन (WhatsApp Notification) मिला है. इस नोटिफिकेषन में यूजर्स को सेवा की शर्तों और गोपनीयता नीति में बदलावों को स्वीकार करने के लिए बोला गया है. 8 फरवरी तक ऐसा न करने पर यूजर के खाते को हटा दिया जाएगा.

ऐप नोटिफिकेशन के बहुत अधिक विवरण नहीं मिले हैं, लेकिन लिंक पर क्लिक करने पर यह बताया गया है कि व्हाट्सएप उपयोगकर्ताओं की जानकारी को मूल कंपनी फेसबुक के साथ आगे बढ़ाने और प्रोसेस करने को लेकर परिवर्तन किए गए हैं.

यह लिखा है अपडेट पॉलिसी में 

व्हाट्सएप की अपडेटेड पॉलिसी में लिखा है, जब आप हमारी सेवाओं को इंस्टॉल करते हैं या उपयोग करते हैं तो व्हाट्सएप को अपनी सेवाओं को संचालित करने, मौजूद कराने, सुधारने, समझने, कस्टमाइज करने, सपोर्ट करने और मार्केटिंग की कुछ जानकारी इकट्ठा करनी होती है. हमारी सेवाओं का उपयोग करने वाले और आपस में वार्ता करने वाले व्यवसायों को अपनी वार्ता की जानकारी हमें देने की आवश्यकता है. व्हाट्सएप की ये नयी सेवा शर्तें और गोपनीयता नीति 8 फरवरी से लागू होंगी.

मोबाइल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने बोला कि वह अपनी सेवाओं को संचालित करने, मौजूद करने, सुधारने, समझने, कस्टमाइज करने, सपोर्ट करने और मार्केटिंग में सहायता करने के लिए थर्ड-पार्टी सर्विस प्रोवाइडर और अन्य फेसबुक कंपनियों के साथ कार्य करता है.

मैसेंजर चैट, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप को करना चाहते हैं मर्ज
इसमें आगे बोला गया है, ये कंपनियां हमें कुछ खास परिस्थितियों में आपके बारे में जानकारी प्रदान कर सकती हैं. उदाहरण के लिए ऐप स्टोर हमें सेवा की समस्याओं को समझने और उन्हें ठीक करने में सहायता करने के लिए रिपोर्ट प्रदान कर सकते हैं.

Loading...

बता दें कि अक्टूबर में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने बोला था कि कंपनी मैसेंजर चैट, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप को मर्ज करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं. ताकि वे एक ढंग से जुड़े इंटरऑपरेबल सिस्टम की तरह कार्य करना प्रारम्भ कर सकें.

व्हाट्सएप को लाना चाहते हैं इंटरऑपरेबिलिटी में 

जुकरबर्ग ने विश्लेषकों को बताया था, यहां और कार्य करना है. हम निश्चित रूप से व्हाट्सएप को उस इंटरऑपरेबिलिटी में लाना चाहते हैं. इसके अतिरिक्त ऐसी और भी विशेषताएं हैं जो हम मैसेंजर, इंस्टाग्राम इंटरऑपरेबिलिटी में भी जोड़ना चाहते हैं. अपनी नयी नीति में व्हाट्सएप ने बोला है कि यदि आप हमारी सेवाओं का उपयोग ऐसी थर्ड-पार्टी सेवाओं या फेसबुक कंपनी के प्रोडक्ट्स के साथ करते हैं, तो हम आपसे उनके बारे में जानकारी ले सकते हैं.

उदाहरण के लिए यदि आप न्यूज सर्विस पर व्हाट्सएप शेयर बटन का उपयोग उसे अपने व्हाट्सएप कॉन्टैक्ट्स, ग्रुप्स या ब्रॉडकास्ट लिस्ट के साथ साझा करते हैं, यदि आप मोबाइल कैरियर या डिवाइस प्रोवाइडर के प्रचार के जरिए हमारी सेवाओं का उपयोग करने का विकल्प चुनते हैं.

यूजर्स को होंगे ये फायदे 

साथ ही व्हाट्सएप फेसबुक कंपनियों के हिस्से के रूप में आपको दोस्तों, समूहों, कंन्टेंट आदि को लेकर सुझाव भी दे सकता है. आपको शॉपिंग करने, संबंधित ऑफर दिखाने, फेसबुक कंपनियों के प्रोडक्ट के एडवरटाईजमेंट दिखाने जैसे कार्य कर सकता है. उदाहरण के लिए यह आपको व्हाट्सएप पर चीजों का भुगतान करने के लिए अपने फेसबुक पे एकाउंट को कनेक्ट करने की अनुमति देता है. साथ ही नए व्हाट्सएप एकाउंट को कनेक्ट करके आपको अन्य फेसबुक कंपनी प्रोडक्ट्स जैसे पोर्टल पर अपने दोस्तों के साथ चौट करने की अनुमति देता है.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/