Breaking News

मिसाल: 6 वर्ष के इस बच्चे ने मात्र 53 घंटे में दौड़कर पूरा कर किया 251 किमी का यात्रा

भोपाल. राजधानी के मैदान में एक सवा छह वर्ष का बालक वरेण्यम देश का नामी एथलीट बनने का सपना संजो रहा है. मिसरोद सलैया क्षेत्र की सागर लाइफस्टाइल टावर सोसायटी में रहने वाला वरेण्यम हर प्रातः काल 4:30 बजे से दोड़ने की प्रैक्टिस प्रारम्भ करता है. इतनी कम आयु में हर रोज पांच किलोमीटर की दौड़ करने वाला वरेण्यम मध्य प्रदेश का सबसे कम आयु एथलीटों में शामिल है. बता दें कि केवल छह वर्ष पांच महीने के वरेण्यम ने दो दिन पहले ही 31 दिन का ‘इंडियन रनर दिसंबर चैलेंज’ पूरा किया है. उन्होंने 53 घंटे 14 मिनट 44 सेकंड में 251.03 किमी की दूरी दौड़कर तय की है.

वे देशभर के 3899 धावकों में 89वें नंबर पर रहे. वरेण्यम को एशियन बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने 8 दिसंबर 2020 को ग्रैंड मास्टर्स का टाइटल दिया था. इससे चार दिन पहले, यानी 4 दिसंबर तो वरेण्यम का नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ था. उन्हें ‘मैक्सिमम डिस्टेंस कवर्ड बाई ए किड वाइल रनिंग’ का टाइटल भी मिला है.

ऐसे शुरु हुआ था सफर

Loading...

मार्च में शुरु हुए कोविड-19 संक्रमण के बाद जबसंक्रमण पीक पर था, तब वरेण्यम की सुरक्षा को देखते हुए उसके घर से निकलने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी थी, जिसके कारण वह मोबाइल पर गेम खेलने का आदी हो गया. करीब एक महीने बाद जब लॉकडाउन में कुछ ढील मिली तो उसे पार्क में घुमाने ले गए तो उसने खेल-खेल में पार्क के दो राउंड लगाए. इसके बाद वरेण्यम की दौड़ का यात्रा प्रारम्भ हुआ.

परिवार को है गर्व

माता पिता और दादा को वरेण्यम पर गर्व है. परिजनों को उसकी एकाग्रता और रेगुलरटी पर गर्व है. वह कहते हैं कि वह रोज़ प्रातः काल 5 बजे उठ जाता है ओर हमें भी दौड़ने के लिए प्ररित करता है. उसकी इस आदत से पूरी कॉलोनी के लोग भी प्रभावित हुए हैं. वह भी प्रतिदिन उसे दौड़ते हुए देखकर खुश होते हैं और पार्क में टाइम पर आ जातें है.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/