Breaking News

SEBI ने मुकेश अम्बानी को दिया बड़ा झटका, शेयर कारोबार में गड़बड़ी को लेकर ठोका 40 करोड़ का जुर्माना

भारत के सबसे धनी शख्स और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. अंबानी और उनकी कंपनी पर शेयर मार्केट को रेगुलेट करने वाली भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 40 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. सेबी ने नवंबर 2007 में पूर्ववर्ती रिलायंस पेट्रोलियम लिमिटेड (आरपीएल) के शेयर कारोबार में कथित गड़बड़ी को लेकर कार्रवाई की है

इस मुद्दे में सेबी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 25 करोड़ रुपया का और मुकेश अंबानी के साथ-साथ दो अन्य इकाइयों पर 15 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. इतना ही नहीं, सेबी ने नवी मुंबई सेज प्राइवेट लिमिटेड से 20 करोड़ रुपये और मुंबई सेज लिमिटेड को 10 करोड़ रुपये का जुर्माना देने को भी बोला है.

मालूम हो कि यह केस नवंबर 2007 में आरपीएल शेयरों की नकद और वायदा खंड में खरीद और बिक्री से जुड़ा हुआ है. रिलायंस पेट्रोलियम लिमिटेड के शेयरों की नकद और फ्यूचर खरीद में गड़बड़ी पाई गई है. इससे पहले आरआईएल ने मार्च 2007 में आरपीएल में 4.1 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया था. इस सूचीबद्ध अनुषंगी इकाई का बाद में 2009 में आरआईएल में विलय हो गया.

Loading...

इस संदर्भ में मुद्दे की सुनवाई करने वाले सेबी के ऑफिसर बीजे दिलीप ने अपने 95 पन्नों के आदेश में बोला कि प्रतिभूतियों की मात्रा या मूल्य में कोई भी गड़बड़ी हमेशा मार्केट में निवेशकों के विश्वास को चोट पहुंचाती है. इससे वे मार्केट में हुई हेराफरी में सबसे अधिक प्रभावित होते हैं. इसलिए सेबी इस तरह की गई हेराफेरी पर नजर बनाए रखता है. उन्होंने बोला कि इस मुद्दे में आम निवेशक इस बात से अवगत नहीं थे कि वायदा एवं विकल्प खंड में सौदे के पीछे की इकाई आरआईएल है. इस मुद्दे में फर्जीवाड़ा वाले कारोबार से नकद और वायदा एवं विकल्प खंड दोनों में आरपीएल की प्रतिभूतियों की कीमतों पर प्रभाव पड़ा और अन्य निवेशकों के हितों को नुकसान पहुंचा.

बीजे दिलीप ने बोला कि, ‘मेरा विचार है कि गड़बड़ी किए जाने वाले ऐसे कामों को कठोरता से निपटा जाना चाहिए ताकि पूंजी मार्केट में इस प्रकार की गतिविधियों को रोका जा सके.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/