Breaking News

यूपी में 1 जनवरी से प्रदूषण जाँच के लिए देना होगा दोगुना पैसा, 10 हजार रुपये होगा जुर्माना, जानें नया नियम

लखनऊ यदि आपने वाहनों की प्रदूषण जाँच नहीं कराई है तो तत्काल करा लें. नहीं तो पहली जनवरी से जाँच कराने पर अधिक पैसा खर्च करना पड़ेगा. क्योंकि यूपी में 1 जनवरी से वाहनों की प्रदूषण जाँच महंगी हो जाएगी. गाड़ी मालिकों को दोपहिया से लेकर सभी तरह के वाहन के प्रदूषण की जाँच के लिए अब दो गुना पैसा खर्च करना होगा. प्रदूषण जाँच की नयी दरें कल यानी एक जनवरी 2021 से प्रदेश भर में लागू हो जाएंगी. वहीं प्रदूषण जाँच न कराने पर वाहन मालिकों को 10 हजार रुपये जुर्माना के तौर पर देने होंगे.

1600 प्रदूषण जाँच केंद्र

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि पूरे यूपी में ऐसे वाहनों की संख्या करीब तीन करोड़ है. लखनऊ में प्रदूषण जाँच केंद्रों की संख्या 448 है, जबकि प्रदेश भर में 1600 प्रदूषण जाँच केन्द्र हैं. बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए गाड़ी मालिकों को हर छह महीने और वर्ष भर में वाहनों की प्रदूषण जाँच करानी होती है. परिवहन विभाग ने प्रदेश भर के हर थाना क्षेत्र के भीतर एक प्रदूषण केन्द्र स्थापित करने का लक्ष्य मार्च 2021 तक रखा है. जिससे दो और चार पहिया गाड़ी मालिकों को प्रदूषण जाँच कराने में कोई परेशानी न हो.

थानावार खुलेंगे प्रपदूषण जाँच केंद्र

वहीं परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने बताया कि पांच वर्ष से प्रदूषण जाँच की दरों में वृद्धि किये जाने की मांग केन्द्र संचालक कर रहे थे. कंप्यूटराइज्ड व्यवस्था के चलते इस पर आने वाले खर्च को देखते हुए पहली जनवरी से जाँच की दरों को बढ़ाये जाने का निर्णय लिया गया है. उन्होंने बताया कि यूपी औनलाइन मोटरयान प्रदूषण जाँच केन्द्र योजना के भीतर थानावार जाँच केन्द्र खोलने की तैयारी है. जिससे लोग सरलता से अपने वाहनों की जाँच करा सकें.

Loading...

प्रदूषण जाँच की नयी दरें

  • दो पहिया वाहनों के लिए पहले 30 अब 50 रुपए

  • तीन और चार पहिया वाहनों के लिए पहले 40 अब 70 रुपए

  • चार पहिया डीजल वाहनों के लिए पहले 50 अब 100 रुपए

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/