Breaking News

आखिर भारत के लिए क्यों सबसे मुफीद साबित हो सकती है ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन? जानिए वजह

नई दिल्ली दुनिया में अब कोविड-19 टीकाकरण (Covid Vaccination) की आरंभ हो चुकी है अमेरिकी दवा कंपनी Pfizer की वैक्सीन को कई राष्ट्रों ने अपने यहां इस्तेमाल की इजाजत दे दी है लेकिन इस बीच हिंदुस्तान में लोगों के मन में यह प्रश्न बना हुआ है कि आखिर कौन सी वैक्सीन देश के लिए सबसे अधिक मुफीद होगी यदि विदेशी वैक्सीन की बात की जाए तो बोला जा रहा है कि ऑक्सफोर्ड युनिवर्सिटी की वैक्सीन (Oxford Vaccine) हिंदुस्तान के लिए सबसे अधिक प्रभावी हो सकती है

ब्रिटेन दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया है जिसने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रेजेनेका वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की अनुमति दे दी है अब बोला जा रहा है कि हिंदुस्तान भी जल्द ही इस वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की अनुमति दे सकता है दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन उत्पादक सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया इस प्रोजेक्ट में पार्टनर है कंपनी पहले ही इस वैक्सीन के 5 करोड़ डोज तैयार कर चुकी है हिंदुस्तान में इस वैक्सीन का नाम Covishield रखा गया है

कम तापमान पर रखना है सबसे बड़ी खूबी
हिंदुस्तान के लिए कोविशील्ड वैक्सीन के अधिक मुफीद होने के कई कारण हैं पहला तो ये कि Pfizer की वैक्सीन को -70 डिग्री सेल्सियस तापमान पर फ्रीज करके रखना है जिसके लिए फ्रीजर की व्यवस्था करना हिंदुस्तान के लिए बड़ी चुनौती होगी वहीं मॉडर्ना की वैक्सीन के लिए भी डीप फ्रीजर की जरूरत होगी लेकिन ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन को सामान्य फ्रीज में रखा जा सकता है

बड़े स्तर पर वैक्सीन की आपूर्ति सरलता से हो सकेगी

Loading...

दूसरा सकारात्मक पहलू ये है कि हिंदुस्तान जैसे बड़े देश में टीकाकरण के लिए बहुत बड़े स्तर पर प्रोडक्शन की जरूरत होगी दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन उत्पादक के रूप में सीरम इंस्टिट्यूट इसमें बहुत मददगार साबित हो सकता है कंपनी का बोलना है कि वह मार्च महीने तक तकरीबन दस करोड़ डोज तैयार कर लेगी बताते चलें कि हिंदुस्तान में कोविड-19 के पहले फेज के वैक्सिनेशन में तकरीबन 30 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जाना है

अपेक्षाकृत कम होगी कीमत

सीरम इंस्टिट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ये भी साफ कर चुके हैं कि वर्तमान में बने तकरीबन सभी डोज हिंदुस्तान के लिए ही इस्तेमाल किए जाएंगे वहीं इस वैक्सीन की तीसरी अच्छाई पैसे भी हैं नवंबर में एक साक्षात्कार में पूनावाला कह चुके हैं कि वैक्सीन के दोनों डोज की मूल्य एक हजार रुपए से कम रखी जाएगी

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/