Breaking News

कोविड-19 के दौरान मोटापे की समस्या बन सकती है मौत का कारण, जाने कैसे

चीन की एक आधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक चीन में वयस्कों की आबादी का आधा यानी 50 करोड़ से ज्यादा लोग ओवरवेट यानी ज्यादा वजन वाले हैं। साल 2002 के बाद से इस आंकड़े में काफी उछाल आया है।

Overweight Man Measuring His Belly with tape measure

तब वहां 29 फीसदी लोग ओवरवेट थे। हालिया दशकों में चीन की तेजी से हुई आर्थिक उन्नति की वजह से लोगों के लाइफस्टाइल, खान-पान और व्यायाम की आदतों में बदलाव आया है। अक्तूबर में चीनी सरकार ने मोटापे से निपटने की योजना के बारे में बताया था। मोटापे की वजह से कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है जैसे दिल का बीमारी, स्ट्रोक और डायबिटीज। मोटापे की समस्या इसलिए भी केंद्र में हैं, क्योंकि कोरोना महामारी से संबंधित अध्ययनों में पता चला है कि मोटापे से ग्रसित लोगों में कोविड-19 के गंभीर लक्षण और मौत का खतरा ज्यादा है।

बुधवार को नेशनल हेल्थ कमीशन की रिपोर्ट में पता चला कि 50 फीसदी से ज्यादा वयस्क लोगों को ओवरवेट की श्रेणी में रखा गया है, जिसमें से 16.4 फीसदी लोग मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं। रिपोर्ट में इसका कारण बताया गया है कि लोगों ने शारीरिक गतिविधियां कम कर दी हैं। एक-चौथाई से भी कम लोग हफ्ते में सिर्फ एक दिन व्यायाम करते हैं।

बढ़ते मोटापे का एक कारण मांसाहारी भोजन का ज्यादा खाना और फलों का कम खाना भी है। हार्बीन शहर में न्यूट्रिशनिस्ट वांग डेन ने एएफपी न्यूज एजेंसी को बताया कि देश में कई वयस्क अब कम व्यायाम करते हैं, दबाव में रहते हैं और उनके काम करने के घंटे भी सही नहीं हैं।

Loading...

चीन ही एकमात्र ऐसा देश नहीं है जहां हाल में मोटापे से ग्रसित लोगों की या ओवरवेट लोगों की संख्या बढ़ी है। इस साल की शुरुआत में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा था कि 1975 के बाद से दुनिया में मोटापे का स्तर तीन गुना बढ़ गया है, जिसमें कम और मध्यम आय वाले देश भी शामिल हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुमान के मुताबिक, साल 2016 में कम से कम 40 फीसदी लोग ओवरवेट थे और 13 फीसदी लोग मोटापे से ग्रसित थे। कतर जैसा छोटा खाड़ी देश भी सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है, जहां 70 फीसद से ज्यादा लोग ओवरवेट हैं या मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/