Breaking News

बीमा धनराशि हड़पने के लालच में बेटों ने अपनी मां को उतारा मौत के घाट

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की एक कोर्ट ने बीमा धनराशि हड़पने के लालच में अपनी मां की कार से रौंदकर हत्या करने का दोषी पाते हुए उसके दो बेटों को मंगलवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई और उन पर 30-30 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है.

जिले के फौजदारी सहायक लोक अभियोजक (ADGC) देवदत्त मिश्रा ने बुधवार को कहा कि कोर्ट ने बीमा धनराशि हड़पने के लालच में एक महिला की तीन मई 2017 की रात लगभग 10 बजे कार से रौंदकर हत्या करने का जुर्म साबित हो जाने पर मृतका के दो बेटों अमर सिंह (23) और राहुल सिंह (21) को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है और दोनों पर 30-30 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है.

देवदत्त मिश्रा ने बताया कि यह घटना तीन मई 2017 की रात लगभग 10 बजे की है. फतेहपुर जिले की बिंदकी कोतवाली के अंतर्गत आने वाले ठिठौरी गांव के अमर सिंह और उसके छोटे भाई राहुल सिंह ने मां गुड्डी देवी (44) की हत्या कर उसके नाम की बीमा पॉलिसी की धनराशि हड़प करने की साजिश रची. उन्होंने बताया कि साजिश के मुताबिक, अमर सिंह अपनी मां को बाइक पर लेकर तीन मई 2017 को चित्रकूट में दर्शन कराने ले गया और रात तक़रीबन 10 बजे बेंदा-जौहरपुर गांव के पास एक ट्रक के सामने आने पर अमर सिंह ने अपनी मां को बाइक से सड़क पर गिरा दिया. इसके बाद अमर सिंह ने उसे (मां को) घसीटकर कार के सामने फेंक दिया. यह कार उसका छोटा भाई राहुल चला रहा था.

Loading...

एडीजीसी ने बताया कि साजिश के मुताबिक, राहुल बांदा से ही कार लेकर बड़े भाई की बाइक के पीछे चल रहा था. उसने आगे-पीछे कार मोड़कर मां को तब तक रौंदा, जब तक उसकी मौत होने का यकीन नहीं हो गया. मिश्रा ने बताया कि इस मामले में अमर सिंह ने अज्ञात ट्रक ड्राइवर के खिलाफ थाने में झूठा केस भी दर्ज करवाया था, किन्तु घटना की जांच में उपनिरीक्षक (SI) उपेंद्र नाथ ने पाया कि बीमा की धनराशि हड़पने के लिए दोनों भाइयों ने अपनी मां की कार से कुचलकर निर्मम हत्या की है और ट्रक चालक के खिलाफ फर्जी केस दर्ज करवाया है.

 

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/