Breaking News

घायल मजदूरों को कंधे पर उठाकर वार्ड तक दौड़े एएसआई, एनकाउंटर में टूट गया था दाहिना हाथ

मध्यप्रदेश के जबलपुर में एएसआई संतोष सेन ने फर्ज और इंसानियत की ऐसी मिसाल पेश की है, जिसे देखकर हर कोई उनका कायल हो गया है। दरअसल, मंगलवार शाम शहर में हुए एक भीषण सड़क हादसे में 30 से अधिक मजदूर घायल हो गए। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाना शुरू किया। जब अस्पताल में एएसआई को स्ट्रेचर नहीं मिला तो वह घायल मजदूरों को कंधे पर उठाकर वार्ड तक ले गए।

दरअसल, जबलपुर के चरगंवा इलाके में एक मिनी ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया। इस दौरान ट्रक में सवार मजदूर 30 से 35 मजदूर बुरी तरह घायल हो गए। ये सभी मजदूर खेत में मटर तोड़ने कोहला से शाहपुरा जा रहे थे। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया।
हर जगह हो रही है तारीफ
इस दौरान पुलिस टीम में एएसआई संतोष सेन भी थे, जो हादसे में घायल हुए मजदूरों को अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां स्ट्रेचर नहीं मिलने पर एएसआई ने घायल मजदूरों को अपनी पीठ पर लादकर वार्ड तक पहुंचाया। इसके बाद अन्य पुलिसकर्मी भी मजदूरों को कंधे पर लादते हुए वार्ड तक लेकर गए। वहीं, अब पुलिसकर्मियों के इस जज्बे को हर जगह सराहा जा रहा है। पुलिसकर्मियों की सेवा की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं।

एनकाउंटर में टूट गया था दाहिना हाथ
57 साल के एएसआई संतोष सेन का एक हाथ टूटा हुआ है, फिर भी वह मजदूरों को कंधे पर उठाकर वार्ड तक पहुंचाया। दरअसल, संतोष सेन साल 2006 में नरसिंहपुर में गुंडे पवन यादव का एनकाउंटर करते हुए घायल हो गए थे। इस घटना में उनका दाहिना हाथ बुरी तरह फ्रेक्चर हो गया था।

Loading...

हाथ के ठीक होने के बाद वह इससे लिख नहीं पाते थे। इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और बाएं हाथ से लिखना और काम करना शुरू किया। वहीं, अब हाथ खराब होने के बाद भी मजदूरों को लादकर वार्ड तक पहुंचाने के लिए उनकी हर जगह तारीफ हो रही है।

 

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/