Breaking News

बॉलीवुड गायिका रानू मंडल के जन्मदिन पर जाने उनके जीवन की कहानी

बॉलीवुड गायिका रानू मंडल आज अपना जन्मदिन मना रही हैं. रानू मंडल का जन्म 5 नवंबर, 1960 को पश्चिम बंगाल के कृष्णा नगर में हुआ था। जन्म के सिर्फ 6 माह पश्चात् ही अपने माता पिता को खो देने वाली रानू मंडल का बचपन राणाघाट में गुजरा।

बॉलीवुड गायिका बनने से पूर्व वह एक आम गरीब महिला थी, जो धन कमाने के लिए रेलवे स्टेशन पर बॉलीवुड सांग गाकर भीख मांगा करती थी। बचपन से ही बॉलीवुड सांग सुनने की शौकीन रानू मंडल मोहम्मद रफी, मुकेश तथा लता मंगेशकर के साथ-साथ कई अन्य लोकप्रिय सिंगर्स के सांग सुनना पसंद करती हैं। उनके इसी शौक ने उन्हें आज एक ऐसे मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया है जहां पर पूरा विश्व उन्हें जान चूका है।

Loading...

वही ईसाई धर्म से ताल्लुक रखने वाली रानू मंडल के पिता आदित्य कुमार फेरी लगाया करते थे, वही उनकी माता एक गृहणी थी। 19 वर्ष की उम्र में उनका विवाह बबलू मंडल के साथ हुआ था, परंतु साल 2009 में उनके हस्बैंड बबलू का निधन हो गया। पहले पति से उनकी एक बेटी तथा एक बेटा था। अपने पहले पति के निधन के पश्चात् रानू मंडल ने दूसरी शादी रचाई, जिससे उनकी एक बेटी हुई।

साथ ही लाइफ में किसी ने भी उनका साथ नहीं दिया, इसलिए अपने जीवन यापन के लिए वह छोटे-मोटे कार्य किया करती तथा रेलवे स्टेशन पर सांग गाकर भीख मांगा करती थी। उनकी गरीबी को देखते हुए उनकी बेटी ने भी उनके भीख मांगने के कारण उन्हें छोड़ दिया था। वही रानू मंडल के करियर का आरम्भ छोटे-मोटे काम करने से हुआ था। मुंबई में अपने हस्बैंड के साथ रहकर छोटे-मोटे काम करने के पश्चात् उन्हें एक क्लब में गाने का अवसर प्राप्त हुआ। कुछ समय तक क्लब में सांग गाने का काम करने के पश्चात्, जब उनके पति ने उन्हें सांग गाने से इंकार किया, तो वह अपने घर राणाघाट लौट आई। राणाघाट लौटने के कुछ वक़्त पश्चात् ही उनके पति का देहांत हो गया।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/