Breaking News

एक मकान में अवैध रूप से बनाकर रखे गए पटाखों में आग लगने से हुआ यह बड़ा हादसा

कुशीनगर कस्बे के आर्य समाज मंदिर मोहल्ले में बुधवार की सुबह पौने सात बजे एक मकान में अवैध रूप से बनाकर रखे गए पटाखों में आग लगने से विस्फोट हो गया। विस्फोट से मकान की अंदरूनी दीवारों के अलावा बगल के चार मकानों की दीवारें क्षतिग्रस्त हो गईं। बारूद में लगी आग से घर में मौजूद चार सदस्य गंभीर रूप से झुलस गए।

आग की लपटों व मकान क्षतिग्रस्त होने के चलते बगल के नौ अन्य लोग घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस व अन्य लोगों की मदद से झुलसे व घायल हुए लोगों को कप्तानगंज सीएचसी ले जाया गया, जहां तीन लोगों की मौके पर, जबकि एक महिला की गोरखपुर मेडिकल कॉलेज ले जाते समय मौत हो गई। घायल व झुलसे नौ लोगों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। मरने वालों में पति-पत्नी, मां-बेटी शामिल हैं। ये सभी एक ही परिवार के सदस्य हैं।
वार्ड-11 आर्य समाज मंदिर मोहल्ला निवासी जावेद के घर में अवैध रूप से पटाखा बनाने का धंधा कई वर्षों से चल रहा था। बुधवार की सुबह करीब पौने सात बजे जावेद की दो बेटियां दरवाजे पर खेल रही थीं, जबकि जावेद, उनकी पत्नी अनवरी, मां फातिमा घर में खाना बनाने व अन्य कार्यों में लगी थीं।
इसी दौरान घर के अंदर तेज धमाका हुआ। अगल-बगल के मकान भी धमाके से क्षतिग्रस्त हो गए। कस्बे में अफरातफरी मच गई। लोग मौके पर पहुंचे तो चीख-पुकार मची थी। मकान के अंदर चारों तरफ ईंट, बारूद व अन्य सामान बिखरे पड़े थे। बारूद की गंध व धुएं से मकान का अंदरूनी हिस्सा काला पड़ चुका था।

पुलिसकर्मी हुए निलंबित
पुलिसकर्मियों ने बड़ी मुश्किल से अंदर फंसी अनवरी पत्नी जावेद, नाजिया पुत्री अली हसन, जावेद पुत्र अनवर तथा जावेद की मां फातिमा को बाहर निकाला। विस्फोट के चलते जावेद के भाई अली हसन के अलावा पड़ोसी रामजीत यादव, रामानंद व वकील यादव के मकान की दीवार क्रेक हो गई। जावेद के घर से निकली लपटों से वकील के घर में आग भी लग गई थी।

घटना की सूचना के बाद एसडीएम देश दीपक सिंह, एसओ संजय कुमार मिश्रा मौके पर पहुंचे। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम, फायर सर्विस और नगर पंचायत के कर्मचारियों को बुलाया गया। संकरी गली में मकान होने के नाते वहां जलकल कर्मियों ने पतले पाइप से पानी पहुंचाया, जिसके चलते आग बुझाने में दिक्कत हुई।

Loading...

गंभीर रूप से झुलसे जावेद (35) पुत्र स्व. अनवर, जावेद की मां फातिमा (60), अली हसन की पुत्री नाजिया (14) को कप्तानगंज सीएचसी में मृत घोषित कर दिया गया। जबकि जावेद की पत्नी अनवरी (32) ने मेडिकल कॉलेज ले जाते समय दम तोड़ दिया। गंभीर रूप से झुलसे आजाद (28), रामसजन (25), नेहा (17), प्रियंका (30) चंदन (एक), साहिन (20),  शमां (18), चांदनी (24) और अफसाना (40) को कप्तानगंज सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर किया गया।

डीएम भूपेंद्र एस चौधरी, एसपी विनोद कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक अयोध्या प्रसाद सिंह, तहसीलदार अहमद फरीद खान, नायब तहसीलदार राधेश्याम उपाध्याय, सीओ कसया पीयूषकांत राय, एफएस ओ इंद्रजीत वर्मा आदि भी मौके पर पहुंचे। एसपी विनोद कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में प्रथम दृष्टया कस्बा चौकी इंचार्ज एसआई रितेश सिंह, बीट हेड कांस्टेबल मानिकचंद, कांस्टेबल संतोष कुमार व मनीष प्रसाद की लापरवाही मानते हुए निलंबित कर दिया गया है। घटना की जांच सीओ कसया को सौंपी गई है।

हादसे में इनकी हुई मौत
1- जावेद  (35)
2- फातिमा (60)
3- नाजिया (14)
4- अनवरी (32)

गंभीर रूप से ये लोग झुलसे
1- आजाद (28),
2- रामसजन (25),
3- नेहा (17),
4- प्रियंका (30)
5- चंदन (1),
6-साहिन (20),
7-शमां (18),
8-चांदनी (24)
9-अफसाना (40)

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/