Breaking News

सबसे बड़े निवेशक बने युवराज सिंह, इस स्टार्टअप में निवेश कर हासिल की बड़ी हिस्सेदारी

भारत के बेहतरीन ऑलराउंडर और 2011 विश्व कप में हीरो क्रिकेट खिलाड़ी युवराज सिंह ने पोषक उत्पादों से जुड़े स्टार्टअप वेलवर्स्ड में निवेश कर बड़ी हिस्सेदारी हासिल की है। इस निवेश के साथ वह कंपनी के सबसे बड़े निवेशक बन गए हैं। हालांकि, उन्होंने निवेश राशि का खुलासा नहीं किया।

100 करोड़ रुपये के मूल्यांकन के हिसाब से खरीदी हिस्सेदारी
वेलवर्स्ड के सह-संस्थापक अनन खुरमा ने कहा कि युवराज ने कंपनी के 100 करोड़ रुपये के मूल्यांकन के हिसाब से हिस्सेदारी हासिल की है। इस निवेश के साथ वे सबसे बड़े निवेशक बन गए हैं। युवराज ने कहा कि, ‘अपने फाउंडेशन और हमारे ब्रांड वाईडब्ल्यूसी के जरिए हम लगातार लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं। चाहे वह खाद्य पदार्थ हो या फिर उपचार। वेलवर्स्ड काफी आकर्षक नाम है। उनके उत्पाद स्वास्थ्य से जुड़े हैं। हमारा अच्छा तालमेल है और साथ मिलकर हम बेहतर उत्पाद तैयार कर सकते हैं।’ वह वर्ष 2018 में स्थापित वेलवर्स्ड के वह ब्रांड एम्बेस्डर भी होंगे।
यह भी पढ़ें: फिल्मों के अलावा ऐसे करोड़ों रुपये कमा रही हैं आलिया भट्ट, इस कंपनी में किया निवेश

बता दें कि युवराज आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ियों में से एक हैं। 2015 में दिल्ली डेयरडेविल्स ने युवराज को 16 करोड़ रुपये में खरीदा था। युवराज कमाई के मामले में बहुत आगे हैं। उन्होंने भले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया हो, लेकिन संपत्ति के मामले में वो कई खिलाड़ियों को मात देते हैं। दिसंबर 2018 तक युवराज सिंह की कुल संपत्ति 250 करोड़ से 300 करोड़ रुपये के बीच थी। युवराज को एक मैच खेलने के लिए लाखों रुपये मिलते हैं। उन्हें बीसीसीआई की ओर से सालाना एक करोड़ रुपये भी मिलते थे। टी-20 मैच के लिए युवराज दो लाख रुपये लेते हैं। वहीं उनकी टेस्ट मैच फीस पांच लाख रुपये है। युवराज ने कई कंपनियों के ब्रांड अंबेसडर भी हैं। फोर्ब्स के अनुसार, युवराज 2016 के सिलेब्रिटी 100 की सूची में 17वें स्थान पर थे।

Loading...

युवराज की अपनी एक कंपनी भी है। साल 2016 में युवराज ने यूवीकैन (YouWeCan) वेंचर्स नाम से एक कंपनी की शुरुआत की थी। इस ब्रांड के तहत एथलेटिक्स या खेल से जुड़े कपड़े आदि मिलते हैं।

 

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/