Breaking News

कोरोना से जंग में सरकार की बड़ी तैयारी, 30 करोड़ लोगों को लग सकता है वैक्सीन का टीका

कोरोना वैक्सीन को लेकर मोदी सरकार बड़ा कदम उठाने जा रही है। प्राथमिक सूत्रों के अनुसार, देश में वैक्‍सीन पाने वाले 30 करोड़ लोग कौन होंगे, इसकी लिस्‍ट तैयार की जा रही है। बताया जा रहा है कि इनमें ज्‍यादा खतरे वाली आबादी के अलावा फ्रंटलाइन वर्कर्स जैसे- हेल्‍थकेयर प्रोफेशनल्‍स, पुलिस, सैनिटेशन कर्मचारी होंगे। करीब 30 करोड़ लोगों के लिए 60 करोड़ टीके लगेंगे। एक बार वैक्‍सीन अप्रूव हो जाए, उसके बाद टीके लगना शुरू हो जाएंगे। हालांकि ये इंजेक्शन देश में तैयार हो रहे हैं या फिर विदेश से मंगवाए जा रहे हैं इसके बारे में विस्तृत जानकारी का इंतजार है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 63,371 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 73,70,468 हो गई। वहीं इस खतरनाक वायरस की वजह से कल 895 लोगों की मौत हो गई थी।

covid 19 vaccine updates: just sitting idle and waiting for corona vaccine  is meaningless World health organisation gave this advice to all countries  to fight with coronavirus - कोरोना से लड़ने के

मरीजों के स्वस्थ होने की दर 87.56 फीसदी हो गई। वहीं संक्रमण से अब तक 1,12,161 लोगों की मौत हो चुकी है। Serum Institute of India के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डॉक्टर सुरेश जाधव ने साफ किया कि भारत कोरोना वैक्सीन बनाने की दिशा में तेजी से काम कर रहा है। इस दिशा में कई कंपनियां तेजी से प्रयासरत हैं। इनमें से 2 फेज-3 के ट्रायल में है जबकि एक अन्य फेज-2 के ट्रायल में है। कई और कंपनियां इस होड़ में शामिल हो चुकी हैं। टीकाकरण की प्रॉयरिटी लिस्‍ट में चार कैटेगरीज हैं- करीब 50 से 70 लाख हेल्‍थकेयर प्रोफेशनल्‍स, दो करोड़ से ज्‍यादा फ्रंटलाइन वर्कर्स, 50 साल से ज्‍यादा उम्र वाले करीब 26 करोड़ लोग और ऐसे लोग जो 50 साल से कम उम्र के हैं मगर अन्‍य बीमारियों से ग्रस्‍त हैं। नीति आयोग के सदस्‍य डॉ वीके पॉल की अगुवाई वाले इस ग्रुप ने जो प्‍लान बनाया है, उसके हिसाब से पहले चरण में देश की 23% आबादी को कवर कर लिया जाएगा।

Bihar CoronaVirus Update: Good news about Corona from Bihar, Second phase  human trial of Corona vaccine at Patna AIIMS ends today

Loading...

एक अधिकारी के मुताबिक, कई कैटेगरीज में ओवरलैपिंग होंगे। सरकार को उम्‍मीद है कि प्राथमिकता वाली आबादी के टीकाकरण के लिए 60 करोड़ डोज की जरूरत पड़ेगी। प्‍लान में वैक्‍सीन की स्‍टॉक पोजिशन, स्‍टोरज फैसिलिटी में टेम्‍प्रेचर, जियोटैग हेल्‍थ सेंटर्स को ट्रैक करने का भी इंतजाम है।

भारत में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक-वी (Sputnik-V) के दूसरे चरण का क्लिनिकल ट्रायल जल्द शुरू होने की संभावना है। सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) के एक विशेषज्ञ पैनल ने शुक्रवार को वैक्सीन के दूसरे फेज के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी भारतीय दवा निर्माता डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज (DRL) को देने की सिफारिश की।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/