Breaking News

एशिया के दो देशों बीच कल से युद्ध शुरू, अब तक 23 लोगों के मारे जाने और 100 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर

एशिया के दो देशों आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच कल से युद्ध शुरू हो गया. अब तक 23 लोगों के मारे जाने और 100 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है. टैंक, हेलिकॉप्टर, मिसाइल इस्तेमाल हो रहे हैं. खतरनाक ये है कि इस युद्ध में अजरबैजान के पक्ष में तुर्की खुल कर आ गया है. वहीं अमेरिका ने अर्मेनिया और अजरबैजान से सयंम बरतने को कहा है, अमेरिका ने तुरंत युद्ध बंद करने को कहा है.

आर्मेनिया ने आशंका जताई है कि अगर इसे रोका नहीं गया तो ये दो देशों का युद्ध नहीं रह जाएगा यानी विश्वयुद्ध में तब्दील हो जाएगा. आर्मेनिया ने ऐसे कई वीडियो जारी किए हैं जिसमें उसने अजरबैजान के टैंकों का विध्वंस किया है. आर्मेनिया ने मार्शल लॉ लागू कर दिया है. दोनों ही देशों ने हमले में सामान्य नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि की है. अजरबैजान का क्या कहना है ? इस युद्ध में और भी देश शामिल हो सकते हैं. भारत का लगातार विरोध करने वाले तुर्की ने ये खतरा और भी बढ़ा दिया है.

तुर्की के हस्तक्षेप दुनिया की नजर रूस पर है कि वो क्या कदम लेगा. अजरबैजान के राष्ट्रपति ने आपातकालीन बैठक ली और जनता को संबोधित भी किया. उन्होंने कहा, ”ईश्वर शहीदों पर दया करे. उनका खून व्यर्थ नहीं जाएगा. अजरबैजान की सेना दुश्मन के ठिकानों पर हमला कर रही है. जिससे दुश्मन के कई उपकरण तबाह हुए हैं.”

Loading...

आर्मेनिया का सीधा आरोप है- तुर्की युद्ध को भड़का रहा है वहीं आर्मेनिया का सीधा आरोप है कि तुर्की युद्ध को भड़का रहा है और ये सिर्फ आर्मेनिया और अजरबैजान का युद्ध नहीं रह जाएगा. आर्मेनिया के प्रधानमंत्री निकोल पाशिनियन ने कहा, ”दक्षिण काकेशस में बड़े युद्ध के अप्रत्याशित परिणाम हो सकते हैं. यह हमारे क्षेत्र की सीमाओं से परे जा सकता है. इससे अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा और स्थिरता को खतरा पैदा हो सकता है. मैं अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से अपील करता हूं कि वह तुर्की की ओर से किसी भी संभावित हस्तक्षेप को रोके.”

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/