Breaking News

अशुभ नहीं है काला रंग, जानेंगे इसके राज तो कर लेंगे आज ही धारण

वैसे तो लोगो के कई पसंदीदा रंग कई होते है, लेकिन काला रंग किसी का पसंदीदा हो, ऐसा कम ही देखने को मिलता है | इसकी वजह दरअसल काले रंग को अशुभ माना जाना है | इसीलिए अक्सर लोग इससे बचते नजर आते है | विवाह जैसे शुभ कार्यो में काला रंग पहनने की सख्त मनाही होती है | काले रंग को शोक और विरोध का प्रतीक भी माना जाता है | लेकिन असल में देखा जाए तो काले रंग को स्वयं ईश्वर ने भी श्रेष्ठ माना है | आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे है |
माँ कालरात्रि
 
 
माँ दुर्गा के 9 रूपों में से एक रूप माँ कालरात्रि है, जिन्हे माँ काली के नाम से भी जाना जाता है | माँ काली के सामने सभी देवता हाथ जोड़े खड़े रहते है | माँ काली की शक्ति इतनी है, कि उन्हें सँभालने के लिए स्वयं महादेव को माँ काली के पैरो के नीचे आना पड़ा था | ऐसा बताया जाता है कि सृष्टि के आरम्भ और समाप्ति के बाद माँ काली का ही साम्राज्य होता है | उस समय माँ काली के प्रभाव से चारो और अमावस्या के समान कालिमा छा जाती है | क्योंकि माँ काली हर एक रंग को अवशोषित कर लेती है |
शालिग्राम
 
 
आपने भगवान विष्णु की अनेक मूर्तियां देखी होगी, धातु से बनी या पत्थर से बनी | लेकिन शालिग्राम और काले पत्थर के विग्रह का जो प्रभाव है, वो किसी धातु की मूर्ति में नहीं है | शालिग्राम को साक्षात् श्रीहरि का अवतार माना जाता है | मान्यताओं के अनुसार काले पत्थर के विग्रह भक्तो से नकारात्मकता को सोख लेता है |
कपिला
 
 
वैसे तो गाय कई रंग की होती है, इनमे से सफ़ेद गाय हमे काफी देखने को मिलती है | धर्मग्रंथो में काले रंग की गाय को सबसे उत्तम माना गया है | ऐसी गाय को कपिला कहा जाता है | बताया जाता है कि यदि काली गाय के पैरो के नीचे की मिट्टी को माथे पर लगाया जाये तो पाप कम हो जाते है | इसके अलावा काले कुत्ते का भी ज्योतिष में बड़ा महत्व है | आपको ज्ञात होगा काला कुत्ता भैरव की सवारी भी है |
शनिदेव
 
 
सूर्यपुत्र शनिदेव न्याय के देवता है | उन्हें काला रंग सबसे अधिक प्रिय है, इसीलिए शनिवार के दिन काले रंग की चीजे अर्पित करने को कहा जाता है | शनिदेव के प्रिय काले रंग में भी शनिदेव के समान न्याय करने और पक्षपात ना करने का गुण है | ये रंग हर प्रकार की नकारात्मकता को सोख लेता है |
शिवलिंग
 
 
आपने जितने भी शिव मंदिर देखे होंगे | उन मंदिरो के केंद्र में महादेव शिवलिंग के रूप में विराजमान होते है | जितने भी शिवलिंग पाए जाते है, उनमे सभी का रंग काला ही होता है | शिवलिंग पर जल अर्पित करें से मनोकामनाएं पूरी होती है | साथ ही शिवलिंग मनुष्य के पाप भी सोख लेता है |
अन्य महत्व
 
 
काले रंग के ऐसे कई प्रमाण है, जो इसकी महत्ता को दर्शाते है | जैसे शकुन शास्त्र के अनुसार घर में काली चींटियों का आना धन आगमन का संकेत देता है | वहीँ बुरी नजर और रोगो से रक्षा के लिए काले रंग का धागा बाँधा जाता है | इसके अलावा काले तिल महादेव और श्रीहरि को अत्यंत प्रिय है |
वैसे इन सभी बातो को अंदाजा हो गया होगा कि काले रंग का कितना महत्व है | काला रंग असीम शक्तियों का वाहक है | स्वयं भगवान काले रंग को धारण करते है | इस रंग के प्रभाव के सामने सभी रंग फीके है |
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/