Breaking News

चीन को चित और पाकिस्तान को पस्त करने के लिए IAF के बेड़े में शामिल हुए ‘बाहुबली’ राफेल, राजनाथ बोले- ये एक Game Changer

भारत-चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर तनाव बढ़ता जा रहा है। चीन सीमा पर सैनिकों की तैनाती बढ़ाता जा रहा है। ऐले में लड़ाकू विमान राफेल जेट्स भारतीय वायुसेना में शामिल हो गए हैं। गुरुवार को हरियाणा के अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर औपचारिक समारोह में इन विमानों को वायुसेना के बेडे़ में शामिल कर लिया गया। राफेल को भारतीय वायुसेना के लिए एक मील का पत्थर माना जा रहा है। 2016 में फ्रांस के साथ हुए 36 विमानों की डील के बाद इस साल जुलाई में पहले पांच विमान भारत आ गए थे, जिसके बाद गुरुवार का इनका इंडक्शन हुआ है।

अब न चीन बचेगा न पाकिस्तान, आज रण में शामिल होगा वायुसेना का 'बाहुबली' राफेल

वहीं इसी बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सीमा पर तनाव पैदा करने वालों के लिए राफेल का इंडक्शन कड़ा संदेश है। उन्होंने कहा कि IAF के बेड़े में राफेल का शामिल होना गेमचेंजर है। उन्होंने कहा कि राफेल का इंडक्शन भातीय वायुसेना के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि भारत आजादी, समानता और भाईचारे के प्रति प्रतिबद्ध है।

Rajnath

Loading...

बता दें कि ये विमान वायुसेना की 17वीं स्क्वॉड्रन में शामिल होंगे, जिन्हें ‘Golden Arrows’ कहा जाता है। इस औपचारिक समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अपनी फ्रेंच समकक्ष फ्लोरेंस पार्ली के साथ मौजूद रहे। पार्ली खासकर राफेल के इंडक्शन के लिए भारत आई हैं। इस मौके पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और एयरफोर्स के प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया मौजूद रहे। राफेल को बेड़े में शामिल करने से पहले यहां इसकी पारंपरिक ‘सर्वधर्म पूजा’ की गई।

IAF के बेड़े में शामिल हुआ राफेल, वायुसेना की बढ़ाएगा शान

वहीं इस दौरान राफेल को वॉटर कैनन से सलामी दी गई, जिसके बाद राफेल और तेजस विमानों ने हवाई उड़ान भरी। इसके पहले फ्लोरेंस पार्ली को दिल्ली में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया था और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने उनसे पालम एयरफोर्स स्टेशन पर मुलाकात की थी, जिसके बाद वो अंबाला एयरफोर्स स्टेशन के लिए निकले थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/