Breaking News

मोदी ने रैना से कहा, ‘आप ‘रिटायर’ होने के लिए बहुत युवा हो’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हाल ही में संन्यास लेने वाले पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना (Suresh Raina) को पत्र लिखकर जीवन की दूसरी पारी के लिए शुभकामनाएं दी हैं। सुरेश रैना ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ ही 15 अगस्त को अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। 33 साल के रैना के इस फैसले ने क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया था।

मोदी ने रैना के खेल की तारीफ की है और उन्हें एक शानदार क्रिकेटर बताया है। मोदी ने रैना की फील्डिंग की खूब तारीफ की है और कहा है कि गेंद से भी रैना पर कप्तान का भरोसा कायम था। रैना ने भी मोदी के इस पत्र पर आभार व्यक्त किया है और कहा है कि देश के प्रधानमंत्री से इस तरह के प्रेरक शब्द वाकई बहुत बड़ी बात है।

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने मध्यक्रम में भारत के लिए कई उपयोगी पारियां खेली थीं। इसके अलावा उनकी गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फील्डर्स में भी की जाती थी।

मोदी ने लिखा, ’15 अगस्त को आपने अनपे जीवन का सबसे मुश्किल फैसला लिया। मैं ‘रिटायरमेंट’ का शब्द इस्तेमाल नहीं करना चाहता हूं क्योंकि आप ‘रिटायर’ होने के लिए बहुत ही छोटे और ऊर्जावान हो। क्रिकेट के मैदान पर एक बहुत आप अपने जीवन की दूसरी पारी के लिए तैयारी कर रहे हो।’

Loading...

मोदी ने अपने पत्र में रैना को लिखा, ‘पीढ़ियां न सिर्फ आपको एक अच्छे बल्लेबाज के रूप में याद करेंगी बल्कि एक उपयोगी गेंदबाज के तौर पर भी आपकी भूमिका को भुलाया नहीं जा सकेगा। आप एक ऐसे गेंदबाज रहे जिस पर मौका पड़ने पर कप्तान भरोसा कर सकता है। आपकी फील्डिंग शानदार थी।इस दौर के कुछ सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय कैचों पर आपके निशान नजर आते हैं। आपने जितने रन बचाए उनका हिसाब लगाने में तो कई दिन लग जाएंगे।’

रैना ने पीएम का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा, ‘जब हम खेलते हैं तो देश के लिए अपना खून-पसीना बहाते हैं। इस देश के लोगों के प्यार से बड़ी और कोई दूसरी प्रेरणा नहीं और जब देश के प्रधानमंत्री आपके लिए ऐसा कहें तो यह और बड़ी बात होती है। @narendramodi जी आपके प्रेरक शब्दों और शुभमकानाओं के लिए शुक्रिया। मैं इसे तहेदिल से स्वीकार करता हूं। जय हिंद।’

इससे पहले गुरुवार को पीएम ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी खत कर भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान की तारीफ की थी। मोदी ने धोनी को लिखा था कि उन्होंने छोटे शहर से आने वाले युवाओं को बड़ा सपना देखने की प्रेरणा दी। मोदी ने धोनी को भारतीय क्रिकेट में एक घटना बताया था जिसने उस परिपाटी को बदल दिया कि कामयाबी सिर्फ बड़े शहरों में रहने वाले और महंगी शिक्षा हासिल करने वालों को ही मिल सकती है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/