Breaking News

SSR केस: एक्टर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर साइन कर फंसे डॉक्टर्स, अब किए जा रहे प्रताड़ित

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत का सुसाइड मामला (Sushant Singh Rajput Suicide Case) अब फाइनली सीबीआई (CBI) के हाथों में सौंप दिया गया है. दरअसल रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की ओर से सीबीआई जांच के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दायर की गई थी. जिस पर आज फैसला आना था, और फैसला करोड़ों लोगों के पक्ष में हुआ है. जो ये चाहते थे कि सुशांत के केस में सीबीआई जांच हो और एक्टर के मौत की सच्चाई सबके सामने आए. लेकिन इस बीच सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट (Sushant Singh PM Report) पर हस्ताक्षर करने वाले कूपर हॉस्पिटल के 5 डॉक्टरों को जमकर ट्रोल करने के साथ उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है.

हैरानी वाली बात तो ये है कि जितने भी डॉक्टरों ने सुशांत के पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर साइन किया है उन सभी के नाम सोशल मीडिया पर पोस्ट किए जा रहे हैं. यहां तक कि पोस्ट के जरिए इन डॉक्टरों के फैमिली की तस्वीरों को भी लोग जमकर साझा कर रहे हैं. दरअसल काफी समय से इस तरह के सवाल उठते रहे हैं कि सुशांत सिंह की डेथ के बाद उनकी जो पोस्टमार्टम रिपोर्ट तैयार की गई थी उसमें काफी छेड़छाड़ हुई है. इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर जिस तरह से इन डॉक्टरों को प्रताड़ना का सामना करना पड़ रहा है, उसका डर इनके अंदर घर कर गया है. शायद यही वजह भी है कि ये इस कदर डर गए हैं कि अभी तक पुलिस में शिकायत भी नहीं दर्ज कराई है.

Loading...

इस बारे में बात करते हुए कूपर हॉस्पिटल के डीन पिनाकिन गुज्जर ने बताया कि, “पुलिस कंप्लेंट अभी तक दर्ज नहीं करवाई गई है. क्योंकि इसके बारे में अभी हम आपस में चर्चा कर रहे हैं. दरअसल इस समय जिन्हें सोशल मीडिया के जरिए ट्रोल किया जा रहा है उन पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि उन्होंने रिश्वत ली है. इसके बाद एक्टर की निधन को सुसाइड घोषित कर दिया है.” उन्होंने बताता कि इस समय पोस्ट में डॉक्टरों की नंबर और डिटेल्स भी लोगों के बीच साझा किया जा रहा है. जिसके जरिए लगातार इन डॉक्टरों को गाली गलौज भरे फोन कॉल्स किए जा रहे हैं. यहां तक कि इनमें से कई लोग तो ऐसे भी हैं जिन्होंने पहले डॉक्टर्स को फोन करके गालियां दी और फिर उसे रिकॉर्ड कर लिया. इसके बाद इस रिकॉर्डिंग को सोशल मीडिया पर साझा कर रहे हैं.

फिलहाल इस मामले में महाराष्ट्र के मेडिको-लीगल एसोसिएशन के प्रेसिडेंट डॉक्टर शैलेश मोहित ने बातचीत करते हुए बताया कि, “ये खबर हमारे लिए चिंताजनक है. यदि किसी भी शख्स को डॉक्टरों के काम से संबंधित कोई भी दिक्कत है तो इसमें वो कानून की मदद ले सकते हैं. लेकिन जिस तरह से हरासमेंट और गालियां दी जा रहे हैं उससे डॉक्टरों के मन में डर पैदा हो रहा है. इसके कारण उनकी ड्यूटी पर काफी ज्यादा फर्क पड़ रहा है. इतना ही नहीं उनकी फैमिली की तस्वीरें खुलेआम सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही हैं, जो बेहद दुखद है.”

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/