Breaking News

कांग्रेस के बाद अब सिंधिया ने दिया BJP को झटका, उपचुनाव से पहले पार्टी को महंगे पड़ सकते हैं ये संकेत

बीजेपी नेता ज्योतिरादित्या सिंधिया ने अपने ट्विटर हैंडल एकाउंट से ‘भाजपा’ शब्द हटा लिया है। उनके द्वारा इस तरह से अपने ट्विटर से बीजेपी शब्द हटाने से प्रदेश की सियासत इस समय गरमा चुकी है। अटकलों का बाजार भी गरम हो चुका है। तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है। अब उनके इस संकेत को लेकर कयासों का दौर भी शुरू हो चुका है। दरअसल, उनका सियासी अतीत इस बात की तस्दीक करता है कि जब-जब उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल में कोई हेरफेर किया है। तब-तब प्रदेश की सियासत में मानो भूचाल आया है। 20 मार्च 2020 कांग्रेस को अलविदा कहने वाले सिंधिया ने बीजेपी का दामन थामने से पहले अपने ट्विटर एकाउंट से कांग्रेस शब्द हटा लिया था।

अब इस बार भी उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल से भाजपा शब्द हटाकर सिर्फ समाज सेवक और क्रिकेट प्रेमी लिखा है। हालांकि सिंधिया के इस कदम को लेकर पार्टी के किसी भी नेता या फिर खुद सिंधिया ने किसी प्रकार कोई बयान नहीं दिया है। बता दें कि बीजेपी में शामिल होने के बाद पार्टी द्वारा उनको कैबिनेट मंत्री बनाने और उनके समर्थकों को प्रदेश मंंत्रिमंडल में शामिल होने की चर्चा तेज हो गई थी, लेकिन अब खबरें आ रही है कि उपचुनाव से पहले सिंधिया समर्थकों को पार्टी टिकट देने से गुरेज कर रही है, जिसके बाद अब सिंधिया अपने ट्विटर हैडंल से भाजपा शब्द हटा लिया है। अब इस मसले पर विभिन्न पहलुओं से चर्चा की जा रही है।

Loading...

वहीं बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह चौहान ने अपने मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए मंत्रियों की सूची तैयार कर ली है, लेकिन अभी तक इसकी अधिकृत घोषणा नहीं हो पाई है। वहीं बीते दिनों यह सूची मीडिया मे भी लीक हो गई थी। कई मौकों पर मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा तेज हुई है, लेकिन अभी तक मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हो पाया है। बता दें कि बीजेपी में शामिल होने से पहले पार्टी ने सिंधिया के 22 समर्थक विधायकों को उपचुनाव में टिकट देने का वायदा किया था, लेकिन अब खबरें आ रही है कि पार्टी उन्हें टिकट देने पर आनाकानी कर रही है। कई सीटों पर इन नेताओं को पार्टी के पुराने नेताओं के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। हाटपिपल्या में दीपक जोशी हों या ग्वालियर पूर्व में कांग्रेस में शामिल हो चुके बालेंदु शुक्ल, पार्टी के लिए अपने नेताओं को मनाना मुश्किल साबित हो रहा है। कुछ विधानसभा सीटों पर सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक की जीत पर संदेह की बातें भी हैं।

वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्यप्रदेश की 24 विधानसभा सीटों पर होने जा रहे उपचुनाव को लेकर ट्वीट कर कहा कि, ‘मध्य प्रदेश की 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी द्वारा नियुक्त किए गए सभी प्रभारियों को मेरी ओर से हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। मुझे पूरा विश्वास है कि आप सभी का अनुभव और कार्यकर्ताओं की मेहनत भाजपा उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करेगा’। बहरहाल, आगामी दिनों में प्रदेश की सियासत का स्वरूप क्या होगा? ये तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बताएगा।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/