Breaking News

कश्मीर भौगोलिक तौर पर तो हमारा है लेकिन भावनात्मक रूप से नहीं: अधीर रंजन

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कश्मीर को लकेर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। अधीर रंजन ने शुक्रवार को कहा कि सरकार इस तरह से कश्मीर पर शासन नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि भौगोलिक तौर पर तो कश्मीर हमारे साथ है, लेकिन भावनात्मक रूप से नहीं।

अधीर रंजन ने कहा, ‘कल संसद में प्रधानमंत्री मोदी ने उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के खिलाफ बात की और रात में ही उन पर पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) लगा दिया गया।’ उन्होंने कहा, ‘पीएम से कहना चाहता हूं कि आप इस तरह से कश्मीर पर शासन नहीं कर सकते। भौगोलिक रूप से कश्मीर हमारे साथ है, लेकिन भावनात्मक रूप से नहीं।

Loading...

कांग्रेस ने जाहिर की नाराजगी
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला  के खिलाफ गुरुवार को प्रशासन ने जन सुरक्षा कानून (PSA) के तहत मामला दर्ज कर दिया। जिसके बाद कांग्रेस ने दोनों नेताओं के खिलाफ की गई कार्रवाई की आलोचना की है। साथ ही कहा कि बिना किसी आरोप के कार्रवाई करना लोकतंत्र में एक घटिया कदम है।

 

चिदंबरम ने कार्रवाई की आलोचना की
कांग्रेस  के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और अन्य के खिलाफ पीएसए की क्रूर कार्रवाई से हैरान हूं। आरोपों के बिना किसी पर कार्रवाई लोकतंत्र में सबसे घटिया कदम है।’ चिदंबरम ने सवाल किया, ‘जब अन्यायपूर्ण कानून पारित किए जाते हैं या अन्यायपूर्ण कानून लागू किए जाते हैं, तो लोगों के पास शांति से विरोध करने के अलावा क्या विकल्प होता है?’

उमर-महबूबा पर लगा PSA
दरअसल, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती की 6 महीने की ‘एहतियातन हिरासत’ पूरी होने से महज कुछ घंटे पहले गुरुवार को उनके खिलाफ जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत मामला दर्ज किया गया। इससे पहले दिन में नेशनल कॉन्फ्रेंस के महासचिव और पूर्व मंत्री अली मोहम्मद सागर और पीडीपी के वरिष्ठ नेता सरताज मदनी पर भी पीएसए लगाया गया।

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/