Breaking News

सोशल मीडिया पर उड़ा ‘बुआ-बबुआ’ के गठबंधन का मजाक, अमर सिंह ने कसा तंज

आगामी आम चुनाव में नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का मुकाबला करने के लिए बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) और समाजवादी पार्टी(सपा) के बीच शनिवार को गठबंधन हुआ है। राजनीतिक गलियारे में इस गठबंधन की काफी चर्चा हो रही है। लेकिन सोशल मीडिया पर भी इस गठबंधन को लेकर हलचल तेज है। ट्वीट पर कई लोग एसपी-बीएसपी गठबंधन को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है। और गठबंधन पर तंज कसते हुए राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने कहा है यह “ केवल अखिलेश और मायावती ( बुआ और बबुआ) के बीच है।”

बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में आम चुनाव के लिए गठबंधन का ऐलान करते हुए कहा है कि दोनों दल 38..38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। दो सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ी गई है जबकि अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस उम्मीदवारों के खिलाफ गठबंधन उम्मीदवार खड़ा नहीं करेगा। वर्तमान में अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और रायबरेली से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सांसद है।

Raj anand 🇮🇳@rajanandbjp

रिपोर्टर मायावती से –
आपके साथ गेस्ट हाउस कांड जैसी घटना के पीछे सपा जिम्मेदार थी, फिर भी आपने इस पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया. ऐसा क्यों?

मायावती – -भविष्य मे ऐसी घटना से बचने के लिए ही तो गठबन्धन किया है

बाकी जीतेगी तो मोदी सरकार ही 😂

218 people are talking about this

Loading...
Subba Rao🇮🇳🇮🇳@yessirtns

Perhaps for the first time, we can see the CIRCUS in UP with the ELEPHANT riding on the BICYCLE..🤣😂🤣😂🤣 its going to be real FUN 😂🤣😂🤣

See Subba Rao🇮🇳🇮🇳‘s other Tweets

[email protected] kumar gupta@Sanjayballia001

देखा है पहली बार
साइकिल पर हाथी सवार !!! 😂
राजनीति एक सर्कस बन गयी !

See [email protected] kumar gupta’s other Tweets

Vaishali Pandey@Vaishali0604


and have left only two seats for Congress in Uttar Pradesh.
Congressis be like👇😄

See Vaishali Pandey’s other Tweets

सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के किसी समय सबसे करीबी रहे अमर सिंह ने कहा कि गठबंधन बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश के बीच में हैं और इसमें वह (मुलायम सिंह यादव )कहीं नहीं है। अमर सिंह ने ट्वीट कर कहा “ सपा के संस्थापक तो हमेशा मुलायम सिंह जी ही रहेंगे।” गठबंधन के मामले में मुलायम सिंह को पूरी तरह अलग रखा गया है। गठबंधन के बैनरों में मायावती, मुलायम सिंह और अखिलेश एक साथ नहीं हैं। यह गठबंधन“ केवल अखिलेश और मायावती(बुआ और बबुआ) के बीच है।”

पिछले आम चुनाव में भाजपा की अगुवाई वाले गठबंधन ने 80 में से 73 सीटें जीती थीं। सपा को पांच और कांग्रेस को दो पर विजय मिली थी । बसपा का पूरी तरह सूपड़ा साफ हो गया था । इसके बाद योगी आदित्य नाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री और केशव प्रसाद मौर्य के उप मुख्यमंत्री बनने से गोरखपुर और इलाहाबाद सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को हार मिली थी । कैराना में भी भाजपा सांसद की मृत्यु के बाद हुए उपचुनाव में विपक्ष की उम्मीदवार तबुस्म हसन विजयी हुई थीं।

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/