Breaking News

ओम प्रकाश राजभर ने फिर बढ़ाई योगी सरकार की मुश्किले, पिछड़ों के लिए की 54 प्रतिशत आरक्षण की मांग

लाइव समाचार – लखनऊ।  अपने बयानों की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहने वाले ओम प्रकाश राजभर ने अपने बयान से एक बार फिर योगी सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी है।
भारतीय सुहेलदेव पार्टी के अध्यक्ष और योगी सरकार में मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने पिछड़ों के लिए 54 फीसदी आरक्षण की मांग की है। उन्होंने कहा कि 27 फीसदी आरक्षण देने से पिछड़ों का भला नहीं होने वाला है। केंद्र सरकार को एक बिल लाकर ओबीसी आरक्षण को डबल करना चाहिए।
राजभर ने आगे कहा कि जब सरकार एससी एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पलट सकती है तो ओबीसी को उसकी आबादी के हिसाब से आरक्षण क्यों नहीं दे सकती। बीजेपी ने लोकसभा चुनाव से पहले जो वादा किया था उसे पूरा करे, वरना वो अपनी पार्टी के स्थापना दिवस पर कोई बड़ा फैसला लेने को मजबूर होंगे। 27 अक्टूबर को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का 16वां स्थापना दिवस है।
राजभर ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन गरीब, पिछड़ो, अलपसंख्यकों का वोट हमने दिलवाया उनके लिए हम सरकार के अंदर और बाहर दोनों लड़ते हैं। पिछड़ों का वोट तो सबको चाहिए। बोरा लेकर सभी नेता टहल रहे हैं पिछड़ों का वोट लेने। डेढ़ साल से हम समझ रहे है कि इनकी मंशा क्या है। बस कुछ न कुछ बोलकर लोगों में झगड़ा करवा देते हैं।
सभी राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा ये लोग दारु पिलाकर, मुर्गा खिलाकर पिछड़ों का वोट ले लेते हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में भी केशव प्रसाद मौर्य को वोट के लिए आगे किया था। जैसे मदारी का बंदर होता है, वैसे ही हर पार्टी ने हर समाज का एक नेता बना दिया और उनको ही वोट के लिए नचाते हैं। कोई भी पार्टी पिछड़ों का भला नहीं करना चाहती हैं। सीएम योगी से प्रदेश संभाले नहीं संभाल रहा है।
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/