Breaking News

प्रोफ़ेसर बोला ‘परीक्षा में अच्छे नंबर चाहिए तो देना होगा Kiss, फिर लड़की ने लिया यह फैसला

एक शिक्षक जिसे प्राचीन समय में गुरु भी कहा जाता था, का पद बहुत ही सम्मानजनक होता हैं. एक शिक्षक का कर्तव्य होता हैं कि वो अपने सभी स्टूडेंट्स को समान रूप से शिक्षा दे और उन्हें सफलता की सीढ़ी चढ़ने में मदद करे. ऐसा कहा जाता हैं कि एक गुरु का स्थान माता पिता के भी पहले आता हैं. वो टीचर ही होता हैं जो आपकी उंगली पकड़ आपके सफलता की राह पर आगे बढ़ना सिखाता हैं. ऐसे में जब भी कोई व्यक्ति टीचर बनता हैं तो वो बच्चे को पूर्ण इमानदारी से शिक्षा देने के लिए बाध्य होता हैं. एक बच्चे का भविष्य काफी हद तक उसके हाथ में होता हैं.
लेकिन आज के जमाने में कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्होंने टीचर पद की गरिमा और मान सम्मान को मिट्टी में मिला रखा हैं. ये लोग टीचर के नाम पर कलंक होते हैं. ये ना सिर्फ बच्चों को पढ़ाने को लेकर कामचोरी करते हैं बल्कि कभी कबार तो हद पार करते हुए अपनी पोजीशन का गलत फायदा भी उठाते हैं. अपनी पोजीशन का गलत फायदा उठाने वाला ऐसा ही एक टीचर मुंबई के एक कॉलेज में देखा गया हैं. यहाँ इस टीचर ने अपनी नाबालिग छात्रा से परीक्षा में अच्छे नंबर देने के बदले ‘किस’ की डिमांड कर डाली. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…
जानकारी के मुताबिक ये पूरी घटना महारष्ट्र के मुंबई के एक नामी कॉलेज की हैं. यहाँ 17 साल की एक लड़की फ़स्ट इयर की स्टूडेंट हैं. हाल ही में उसकी एग्जाम सर पर थी. इस एग्जाम में अच्छे नंबर लाने के लिए उस पर पहले से ही काफी प्रेशर था. लेकिन तभी उसे पढ़ाने वाले एक पुरुष प्रोफेसर ने  उससे ऐसी घटिया बात कह दी कि वो काफी डिप्रेशन में चली गई.
दलासल 17 वर्षीय इस छात्रा का आरोप हैं कि उसके कॉलेज के प्रोफेसर ने परीक्षा में उसे अच्छे अंक देने के बदले ‘किस’ की मांग की हैं. जब टीचर ने ऐसा कहा तो छात्रा ने उन्हें मना कर दिया और वहां से चली गई. ये पूरी घटना 8 मार्च की हैं. इस घटना के बाद छात्रा काफी गुमसुम और उदास रहने लगी. वो धीरे धीरे कर डिप्रेशन की शिकार हो गई. जब लड़की के माता पिता ने इसकी वजह जानना चाही तो उसने पूरा मामला बताया.
लड़की ने माता पिता तो बताया कि उसका कॉलेज प्रोफेसर टेस्ट में अच्छे नंबर देने के बल्दे ‘किस’ की डिमांड कर रहा हैं. इसी वजह से वो काफी टेंशन में हैं. उसे समझ नहीं आ रहा कि क्या किया जाए. लड़की को ये भी डर हैं कि मांग पूरी ना होने पर प्रोफेसर उसे जानबुझ कर फ़ैल भी कर सकता हैं.
बच्ची की आपबीती सुन माता पिता उसे तुरंत पुलिस स्टेशन ले गए और प्रोफेसर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई. हालाँकि जब शिकायत के बाद भी पुलिस ने कुछ एक्शन नहीं लिया तो छात्रा ने सोशल मीडिया पर केम्पेन चला के सपोर्ट माँगा. इसके बाद कई लोग कॉलेज के बाहर एकत्रित हुए और प्रोफेसर की गिरफ़्तारी को लेकर धरना देने लगे. अंत में पुलिस को दबाव में आकार एक्शन लेना पड़ा और उन्होंने प्रोफेसर को गिरफ्तार कर लिया.

आपका एक लाइक बताएगा कि आपको यह खबर पसंद आई है, अगर खबर पसंद है तो लाइक जरुर करें?

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/