Breaking News

सीएम योगी से भी एक्शन में चार कदम आगे निकले नितीश कुमार, कट्टरपंथियों को लेकर दिए सख्त आदेश

पटना : जब पूरा देश रामनवमी पर राम लला की भक्ति में डूबा हुआ तब कहीं बिहार के औरंगाबाद में कट्टरपंथी सड़कों पर उत्पात मचा रहे थे. देश के हर राज्य में यात्राएं निकली, सड़कें भगवामयी हो गयी.
बिहार में रामनवमी पर कट्टरपंथियों का दंगा
लेकिन कुछ कट्टरपंथियों, जिहादियों से हिन्दुओं की रामलला के प्रति भक्ति देखी नहीं गयी . इतना भगवा देख कट्टरपंथियों के अंदर का जिहादी जाग गया और एक और कासगंज जैसी वारदात को अंजाम देने की कोशिश की गयी.
Image result for nitish kumar with yogi adityanath
एक्शन में सीएम योगी से भी चार कदम आगे निकले नितीश कुमार
जबकि इससे पहले हिन्दू नववर्ष पर भी भागलपुर में कट्टरपंथियों ने उपद्रव मचाया था. लेकिन आप जानकार दंग रह जायेंगे सीएम नितीश कुमार तो इस बार सीएम योगी से भी एक्शन में चार कदम आगे निकले.
अभी मिल रही ताज़ा खबर मुताबिक बिहार के औरंगाबाद में रविवार को रामनवमी पर शोभा यात्रा पर कट्टरपंथियों ने ज़बरदस्त पत्थरबाज़ी करी, गोलियां चली, कुछ ने तो बमबाजी भी करी, 30 से ज़्यादा दुकानें जला दी गयी, जो साइकिल, गाड़ियां मिलती गयी उनमे आग के हवाले कर दिया गया. अगले दिन सोमवार को भी ज़ोरदार उपद्रव मचाया गया.
Image result for nitish kumar
कट्टरपंथियों को सीधा देखते ही गोली मारने के आदेश दिए
जुलूस के बाद भड़की हिंसा के चलते सोमवार को प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया है. पूरा इलाका छावनी में तब्दील कर दिया है, धारा 144 लगा दी गयी है. लेकिन इस बार सीएम नितीश ने भी सख्ती दिखाई है. यूपी के कासगंज में जो फैसला सीएम योगी भी नहीं ले पाए वो अब नितीश कुमार ने लेकर दिखाया है. आप यकीन नहीं करेंगे कट्टरपंथियों को, दंगाइयों को सीधा देखते ही गोली मारने का आदेश दे दिया गया है.
रामनवमी की शोभायात्रा पर हुए पथराव से करीब 6 लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं. वहीं कई अधिकारियों को भी चोटें आई हैं. जिला प्रशासन ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश प्रसारित किया और सीआरपीएफ के जवानों को फ्लैग मार्च करने का निर्देश दिया गया.
दोपहर करीब 2 बजे विभिन्न अखाड़ों के लोग पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप बाजार में पहुंचने लगे थे, इसी दौरान ठाकुरबाड़ी की तरफ से रामनवमी की शोभायात्रा बाजार के लिए प्रवेश किया, इस्लाम टोली मोड़ के समीप अचानक पथराव शुरू हो गया, जिसके बाद भगदड़ मच गई.
मौजूद पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह जुलूस को पार कराया. इसे देखते ही कट्टरपंथी और भी ज़्यादा भड़क उठे. जानकारी मिलते ही दूसरे सिरे पर खड़े लोग भड़क उठे और एक-एक कर दुकानों में आग लगाई जाने लगी. कई दर्जन से अधिक दुकानों और गुमटियों को फूंक दिया गया.
औरंगाबाद के जिलाधिकारी राहुल रंजन माहिवाल ने कहा है कि आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं. किसी तरह की अफवाह न फैले इसके लिए इंटरनेट सेवा बंद करने की कार्रवाई की जा रही है। 50 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है

आपका एक लाइक बताएगा कि आपको यह खबर पसंद आई है, अगर खबर पसंद है तो लाइक जरुर करें?

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/