Breaking News

रतन टाटा ने पूरा किया वादा, टाटा की फैक्ट्री में बनना शुरू हुआ महाशक्तिशाली अपाचे हेलीकॉप्टर

नई दिल्ली : अब तक के इतिहास में सबसे खतरनाक लड़ाकू हेलीकॉप्टर अब मेड इन अमेरिका नहीं बल्कि मेड इन इंडिया हो चुका है।
भारत के साथ-साथ दुनिया के दूसरे देशों के लिए तैयार किए जाने वाले एएच-64 अपाचे हेलीकॉप्टर की बॉडी पूरी तरह भारत में बनने लगी है। रतन टाटा और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले हफ्ते इस फैक्ट्री का उद्घाटन किया था, जहां अपाचे हेलीकॉप्टरों का प्रोडक्शन शुरू हो गया है।
टाटा बोइंग एयरोस्पेस लिमिटेड मिलकर दुनिया के 15 देशों की सेनाओं के लिए यहां अपाचे हेलीकॉप्टर तैयार करेंगे। बोइंग की एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि टीबीएएल संयंत्र से निकले एएच-64 अपाचे हेलीकॉप्टर के बॉडीज बोइंग के सभी ग्राहकों को डिलिवर किए जाएंगे, जिनमें अमेरिकी सेना समेत दुनियाभर के 15 अन्य देश शामिल है।
कंपनी का हैदराबाद स्थित संयंत्र करीब 14,000 वर्गमीटर में फैला है, जिनमें 350 बेहद कुशल पेशेवर काम करेंगे। भविष्य में दुनियाभर में जहां कहीं से भी एएच-64 अपाचे हेलीकॉप्टर की मांग आएगी, उसकी बॉडी का निर्माण हैदराबाद स्थित इसी संयंत्र में होगा। कंपनी के मुताबिक इस संयंत्र से पहली बॉडी का निर्माण इसी वर्ष अनुमानित है।
सीतारमन ने टीबीएएल को भारत के रक्षा क्षेत्र में इस तरह के बड़े निवेश के लिए बधाई दी। इस संयंत्र के लिए दोनों कंपनियों ने वर्ष 2015 में करार किया था और संयंत्र का निर्माण वर्ष 2016 में शुरू हुआ। बोइंग डिफेंस, स्पेस एंड सेक्योरिटी की प्रेसीडेंट व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) लिएन कैरेट ने कहा कि पिछले दो वर्षो में भारत से बोइंग की सोर्सिग 100 करोड़ डॉलर (करीब 6,500 करोड़ रुपये) को पार कर गई है। उन्होंने कहा, ‘कंपनी योग्य पेशेवरों, कौशल प्रशिक्षण और एडवांस्ड एयरोस्पेस मैन्यूफैक्चरिंग के लिए काम करने वाले योग्य कर्मचारियों की आपूर्ति बनाए रखने के लिए बड़ा निवेश कर रही है। हम इस संयंत्र से सिर्फ बॉडी ही नहीं, बल्कि बहुत जल्द वर्टिकल स्पार बॉक्स जैसे उपकरणों का भी उत्पादन करेगी।

आपका एक लाइक बताएगा कि आपको यह खबर पसंद आई है, अगर खबर पसंद है तो लाइक जरुर करें?

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/