Breaking News

मायावती जीते तो वाह-वाह, योगी जीते तो बेईमानी-असंवैधानिक, क्या यही है राजनीति की कहानी

लखनऊ। राज्यसभा चुनाव की दसवीं सीट को हारने के बाद बसपा ने बीजेपी पर असंवैधानिक तरीके से जीत हासिल की है। साथ ही बसपा ने अपने समर्थन में दो विधायकों को डराने-धमकाने का आरोप भी लगाया है। वहीं इस मामले में जांच करवाने की बात भी कही है। बता दें कि राज्यसभा चुनाव में बसपा के समर्थन में आने वाले दो वोट बीजेपी को चले गए। इस क्रॉस वोटिंग को लेकर बसपा बीजेपी पर आरोप लगा रही है।

Loading...

बसपा का राज्यसभा चुनाव में हार के बाद बयान

यूपी के 10 सीटों पर शुक्रवार को मतदान के बाद परिणाम देर रात को घोषित किये गए। जिसमें बीजेपी को दस में से 9 सीटों पर जीत हासिल हुई व सपा को 1 सीट मिली बीजेपी को एक सीट बोनस के तौर पर मिली है। वहीं बसपा को काफी जज्बोजहत बावजूद एक भी सीट हासिल नहीं हो पायी। वहीं पार्टी के महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र ने बीजेपी पर असंवैधानिक तरीके से जीत हासिल करने का आरोप लगाया है।
बसपा महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र ने कहा कि बीजेपी ने इस चुनाव में असंवैधानिक तरीके से जीत हासिल की है। उन्होंने कहा कि उनके प्रत्याशी को मुख्तार अंसारी वोट न दे सके। इसलिए उन्हें सरकार ने जानबूझकर जेल से बाहर आने नहीं दिया। वह हमेशा से चाहे वो राष्ट्रपति का चुनाव हो या फिर राज्यसभा चुनाव हो बाहर आकर अपना वोट देते रहे हैं। लेकिन उन्हें बसपा का वोट कम करने की रणनीति के तहत जेल से बहर नहीं आने दिया गया। मिश्र ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने उनके 2 विधायकों को उठवा लिया और उन्हें क्रॉस वोट करने के लिए डराया-धमकाया गया।

सपा के साथ गठबंधन पर बड़ा बयान

सतीश चंद्र मिश्र ने अपने सहयोगियों का पूर्ण समर्थन मिला। उन्होंने कहा कि उनकी सहयोगी पार्टियों ने उनके प्रत्याशी को ही वोट दिया। वहीं सपा के साथ गठबंधन पर मीडिया के सवाल पर उन्होंने कहा कि गठबंधन सपा के साथ जारी रहेगा या नहीं इस बार में वो कुछ नहीं कह सकते। इस मामले में पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ही निर्णय लेंगी।

आपका एक लाइक बताएगा कि आपको यह खबर पसंद आई है, अगर खबर पसंद है तो लाइक जरुर करें?

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/