Breaking News

17 राज्यों की 59 सीटों पर राज्यसभा चुनाव आज, यूपी-झारखंड में दिलचस्प मुकाबला

लखनऊ : राज्यसभा को आज से नए सदस्य मि‍लने वाले है। 17 राज्यों से कुल 59 सीटों पर आज राज्यसभा चुनाव होने हैं।
59 सीटों में से 25 सीटों पर शुक्रवार को वोटिंग है। बाकी 33 सीटों पर एक ही उम्मीदवार होने के कारण उनका निर्वाचन 15 मार्च को ही हो चुका है।हालांकि इसके बावजूद कुछ राज्यों में एक दो सीटों के लिए दिलचस्प मुकाबला देखने को मिलेगा। वहीं इस चुनाव में बीजेपी के कई सदस्यों के पहुंचने के बाद भी राज्यसभा में बीजेपी बहुमत से दूर ही रहेगी। वहीं कांग्रेस की शक्त‍ि में गिरावट होने की पूरी संभावना है।
शुक्रवार को यूपी की 10, बिहार की 6, महाराष्ट्र की 6, पश्चिम बंगाल की 5, मध्य प्रदेश की 5, गुजरात की 4, कर्नाटक की 4, आंध्र प्रदेश की 3, राजस्थान की 3, ओडिशा की 3, तेलंगाना की 3, झारखंड की 2, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, हिमाचल, हरियाणा और केरल की एक-एक राज्यसभा सीट के लिए चुनाव होंगे और आज ही नतीजों का ऐलान किया जाएगा। इनमें से सबसे बड़ी जंग यूपी की 10वीं सीट को लेकर है। केरल में 1 राज्यसभा तब खाली हुई थी जब जदयू के सांसद एमपी वीरेंद्र कुमार ने इस्तीफा दे दिया था। उस सीट के लिए उपचुनाव भी साथ ही होगा।
यहां है मुकाबला
उत्तर प्रदेश: राज्य विधानसभा में संख्या बल के आधार पर भाजपा के आठ उम्मीदवारों का निर्वाचन तय है जबकि एक सीट सपा को मिलेगी। शेष बची एक सीट को अपनी झोली में डालने के लिये भाजपा का सपा और बसपा से संयुक्त मुकाबला होगा। चुनावी दौड़ में भाजपा के उम्मीदवारों में अरुण जेटली, अशोक बाजपेई, विजय पाल सिंह तोमर, सकलदीप राजभर, कांता कर्दम, अनिल जैन, हरनाथ सिंह यादव, जीवीएल नरसिंहाराव और अनिल कुमार अग्रवाल शामिल हैं।
कर्नाटक: 4 सीटों के लिये चुनाव मैदान में उतरे 5 म्मीदवारों में कांग्रेस के तीन और बीजेपी- जेडीएस के 1-1 हैं।
छत्तीसगढ़: एक सीट के लिये बीजेपी और कांग्रेस ने 1-1 उम्मीदवार उतारा है।
तेलंगाना: 3 सीटों के लिये 4 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।
महाराष्ट्र: 6 सीटों के चुनाव में बीजेपी को 2, शिवसेना को 1 और कांग्रेस को 1 सीट मिलने की संभावना है। वहीं एनडीए के एकजुट होने पर 1 सीट और उसके खाते में जा सकती है। वहीं एनसीपी के पास 41 विधायक हैं। ऐसे में उसे सीट पाने के लिए दूसरी पार्ट‍ियों और निर्दलियों पर निर्भर रहना पड़ेगा।
झारखंड: 2 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में बीजेपी की 1 सीट तो पक्की है, लेकिन दूसरी सीट के लिए उसे अपनी सहयोगी पार्टी आजसू के अलावा दूसरों का भी साथ चाहिए होगा। यहां 1 राज्यसभा सीट के लिए 28 विधायकों के समर्थन की जरूरत है। ऐसे में 1 सीट 19 विधायकों वाले जेएमएम के पास जा सकती है अगर वह कांग्रेस (7mla) और जेवीएम (2mla) का समर्थन हासिल करने में कामयाब रही।
पश्च‍िम बंगाल: 213 विधायकों के साथ टीएमसी 4 सीटें अपने खाते में आसानी से डालने में कामयाब रहेगी। हालांकि 1 सीट पर जीत के लिए 42 विधायकों वाली कांग्रेस को टीएमसी के बाकी बचे 13 या सीपीएम के 26 विधायकों के वोट आशा रहेगी। यहां एक सीट पर जीत के लिए 50 विधायकों के समर्थन की जरूरत होती है।

आपका एक लाइक बताएगा कि आपको यह खबर पसंद आई है, अगर खबर पसंद है तो लाइक जरुर करें?

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/