Breaking News

100 करोड़ की विरासत छोड़ योगी बाबा की तरह सन्यासी बन रहा ये लड़का

जिस लड़के के पिता के पास करोड़ों की दौलत हो और वो खुद भी हर महीने लाखों में कमाता हो और अगर वो अचानक सन्यास लेना का फैसला सुना दे लोग उसे क्या कहेंगे?
कुछ ऐसा मंगलवार को अहमदाबाद में होने जा रहा है। दरअसल, एल्युमिनियम व्यवसायी परिवार से ताल्लुक रखने वाला 24 साल की मोक्षेष शाह कल जैन भिक्षु के रूप में दीक्षा लेगा। गुजराती परिवार से ताल्लुक रखने वाला मोक्षेष कोल्हापुर में अपने पिता से विरासत में मिले 100 करोड़ के व्यवसाय को संभाल रहा है। मोक्षेष खुद सीए भी है। मोक्षेष का मानना है कि पैसे सब कुछ नहीं खरीदा जा सकता है और मोक्ष सबसे जरूरी है।
बताया जा रहा है कि रत्न मुनिराज जिनप्रेमविजय जी महाराज अहमदाबाद के नजदीक अमियापुर में स्थित तपोवल संस्कारपीठ में मोक्षेष को दीक्षा देंगे। वह अपने परिवार के पहले शख्स हैं जो भिक्षु की दीक्षा लेंगे। मोक्षेष ने इस बारे में कहा, ‘यदि धन से सबकुछ खरीदा जा सकता है तो सभी धनी लोग खुश होते। कुछ हासिल करने से आंतरिक खुशी नहीं मिलती है बल्कि इससे कुछ छूट जाता है।’
उन्होंने कहा, ‘सीए बनने के बाद मैंने दो साल बिजनस किया लेकिन पाया कि मुझे अपने बैलेंस शीट में पुण्य के बैलंस को बढ़ाना होगा। इसी वजह से मैंने दीक्षा लेकर जैन भिक्षु बनने का फैसला किया। मैं पिछले साल ही दीक्षा लेना चाहता था लेकिन मेरी मां जिगनाबेन और पिता संदीपभाई इसके लिए तैयान नहीं थे। हालांकि उन्होंने इस वर्ष दीक्षा लेने की अनुमति दी।’
युवाओं को संदेश देते हुए मोक्षेष ने कहा कि मोक्ष का रास्ता सर्वश्रेष्ठ है लेकिन जीवन में आपको दूसरों के लिए मददगार बनना चाहिए। यहां तक की कि तीर्थंकर परमात्मा ने भी कहा है कि हमेशा दूसरों के लिए मददगार बने रहना चाहिए।

आपका एक लाइक बताएगा कि आपको यह खबर पसंद आई है, अगर खबर पसंद है तो लाइक जरुर करें?

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/