Breaking News

अभी-अभी : देशहित में सरकार को दांव पर लगाकर PM मोदी ने लिया ये बड़ा फैसला

जब से केंद्र में बीजेपी ने अपनी सत्ता जमाई हैं प्राइम मिनिस्टर नरेन्द्र मोदी तेजी से एक्शन में आये हैं, साथ ही बड़े निर्णय लेने में कामियाब पीएम बने हैं. अब पीएम ने देश के हित के लिए सरकार पर निशाना साधते हुए सरकार को दाव पर लगाया हैं.
बीजेपी सरकार ने बड़े निर्णय लेते हुए जम्मू कश्मीर के राजनीती में कुछ अच्छे और खास बदलाव जारी किये हैं. जम्मू के वित्तमंत्री की टीम बर्खास्त होने के बाद से बीजेपी और पीडीपी सरकार में दरार पैदा होकर अब ये गटबंधन टूटने जा रहा हैं.
 वित्तमंत्री की टीम बर्खास्त होने के बाद बीजेपी ने जम्मू कश्मीर के अपने नेताओं को दिल्ली मिलने बुलाया हैं, बीजेपी के महासचिव के चलते ही जम्मू के वित्त मंत्री हसीब दराबू ने बीजेपी के साथ ही पीडीपी सरकार की गटबंधन की घोषणा की थी. हासीब दराबू ने कुछ ऐसे वक्तव्य कर अपनी टीम बर्खास्त की हैं, इनका कहना हैं की कश्मीर सोशल मुद्दा हैं ना की राजनैतिक मुद्दा हैं, लेकिन जम्मू की पीडीपी सरकार इसे हमेशा से राजनैतिक मुद्दा समजती आ रही हैं, साथ में पाकिस्तान से आतंकवाद के खिलाप बात करने में जुटी रहती हैं. बात करके ही इस मुद्दे को निपटने की कोशिश में रहती हैं.
जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती का कहना हैं की ये विचार सरणी बिलकुल गलत हैं साथ ही पार्टी के खिलाप हैं, पिछले साल भर से चले आ रहे आतंकवादियों के एनकाउंटर के मुद्दे हो या मेजर आदित्यनाथ का मुद्दा ऐसे कई अन्य मामलों में पीडीपी सरकार और मेहबूबा मुफ़्ती के बयान सामने आये हैं इससे बीजेपी सरकार भी खपा हैं. इसमें अब वित्तमंत्री के बर्खास्ती ने और बढ़ावा दिया हैं. बीजेपी ने जम्मू कश्मीर राज्य के नेताओं को तुरंत दिल्ली आने के आदेश दिए हैं. मंत्रियों को दिल्ली बुलाने का कारन ये हैं की बीजेपी और पीडीपी गटबंधन के आगे की योजना बनाना. मेहबुबा मुफ़्ती भी जब से इलेक्शन नजदीक आ रही हैं आपनी खुद की रणनीति बनाने में लगी हैं. सूत्रों की माने तो अब्दुल्ला और महबूबा ने आपने खुद के स्वार्थ के लिए कश्मीर को अपनाया हैं.
पीडीपी सरकार कश्मीर के कई बड़े समस्या पर कोई ठोस कदम अभी तक उठाया नहीं हैं. अगर इन मुद्दे को बरी किया तो इन लोगों का भ्रष्टाचार भी जड़ से ख़त्म होगा इस वजह से आजतक कोई भी कारवाही पीडीपी ने नहीं की. जब से कश्मीर में इलेक्शन का आगाज हुआ हैं पीडीपी सरकार कश्मीर के कट्टरपंथियों को खुश करने के लिए पाकिस्तान के गुणगान गाने में लगी हैं. इन सभी पर पीएम मोदी एक साथ समाधान चाहते हैं. इसके लिए बीजेपी ने आर्टिकल ३५A को बंद करने के आदेश भी दे दिए थे. लेकिन पीडीपी के मेहबूबा और अब्दुल्ला ने ऐसा न करने के लिए भारी मात्रा में अपनी ताकद लगाई थी. मेहबूबा मुफ़्ती का कहना था की जो संविधान में लिखा हैं उसके साथ छेडछाड़ करना सही नहीं हैं. अगर ऐसा फिर भी किया जाता हैं तो कोई भी इंडियन फ्लैग को हात तक नहीं लगाएगा. बीजेपी अब RSS के कहने पर इस गटबंधन पर नया फैसला कर रही हैं क्यूंकि RSS को ये बंधन पहिले से ही हजम नहीं हैं.

आपका एक लाइक बताएगा कि आपको यह खबर पसंद आई है, अगर खबर पसंद है तो लाइक जरुर करें?

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/