Saturday , July 13 2024

पंजाब पुलिस ने गैर-कानूनी ढंग से कंबोडिया भेजने वाले दो ट्रैवल एजेंटों को किया गिरफ्तार

लोगों को धोखे से कंबोडिया भेजा जहां वह हो रहे थे जबरन साइबर गुलामी के शिकार: डीजीपी

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब पुलिस की साइबर क्राइम डिविजन ने पंजाब से गैर-कानूनी ढंग से लोगों को कंबोडिया और अन्य दक्षिणी पूर्वी एशियाई देशों में भेजने वाले दो ट्रैवल एजेंटों को मानव तस्करी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इस बात की जानकारी डीजीपी गौरव यादव ने यहां पत्रकार वार्ता में दी।

उन्होंने बताया कि आरोपियों की पहचान मोहाली स्थित वीजा पैलेस इमीग्रेशन के मालिक अमरजीत सिंह और उनके साथ गुरजोध सिंह के तौर पर हुई है। पुलिस के मुताबिक काबू किए गए ट्रैवल एजेंट भोले-भाले लोगों को डाटा एंट्री की नौकरियों का लालच देकर पंजाब से कंबोडिया भेजते थे। कंबोडिया में मियाम रीप पहुंचने पर उनसे पासपोर्ट छीन लिए जाते थे और उन्हें साइबर स्कैमिंग काल सैंटरों में काम करने के लिए मजबूर किया जाता है। ताकि साइबर फाइनांशियल फ्रॉड के लिए भारतीय लोगेां को निशाना बनाया जा सके।

डीजीपी ने बताया कि कंबोडिया स्थित भारतीय दूतावास के संपर्क में आने वाले पीडित की जानकारी के बाद स्टेट साईबर क्राइम पुलिस स्टेशन ने एफआईआर दर्ज करके इस केस सम्बन्धित जांच शुरू कर दी है। इस सम्बन्धित आइपीसी की धारा 370, 406, 420 और 120- बीज और इमीग्रेशन एक्ट की धारा 24 के अंतर्गत स्टेट क्राइम पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है।

उन्होंने कहा कि प्राथमिक जांच से पता लगा है कि आरोपियों ने कई व्यक्तियों को धोखे के साथ कंबोडिया और अन्य दक्षिण- पूर्वी एशियाई देशों में भेजा है, जहाँ उनसे भारतीयों के साथ साईबर स्कैमिंग वाले केन्द्रों में ज़बरदस्ती काम करवाया जाता है। उन्होंने कहा कि साईबर ग़ुलामी में फंसे अन्य व्यक्तियों के विवरण प्राप्त किए जा रहे है और उन पीडितों और उनके परिवारों के साथ संपर्क कायम करने की कोशिश की जा रही है। वहीं, एडीजीपी साइबर क्राइम डिविजन वी नीरजा ने बताया कि स्टेट साईबर क्राइम की पुलिस टीम ने इंस्पेक्टर दीपक भाटिया के नेतृत्व में वीजा पैलेस इमीग्रेशन के कार्यालय में छापा मारकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने कहा कि आरोपियों ने खुलासा किया है कि वह अलग-अलग राज्यों के साथ संबंधित अन्य एजेंटों की मिलीभगत के साथ गैर-कानूनी गतिविधियों कर रहे थे।  उन्होंने कहा कि ऐसे अन्य ट्रैवल एजेंटों और उनके साथियों की पहचान करने / काबू करने के लिए आगे वाली जांच की जा रही है। एडीजीपी ने ऐसी धोखाधड़ी वाली इमीगेशन गतिविधियों से सचेत रहने  और विदेश विशेषकर दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों मे अच्छी नौकरियां देने के मौके प्रदान करने वाले ट्रैवल एजेंटों के झूठे वादों का शिकार न होने के लिए कहा।

बता दे कि भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने रोज़गार के उद्देश्यों के लिए विदेश जाने के इच्छुक व्यक्तियों को ज़रूरी सहायता सेवाएं प्रदान करने के लिए एक सिंगल- विंडो सुविधा केंद्र के तौर पर ओवरसीज वर्करज़ रिसोर्स सैंटर ( ओडबल्यूआरसी) की स्थापना भी की है। ओ.डब्ल्यू.आर.सी. 24X7 हेल्पलाइन ( 1800113090) उपलब्ध है जिससे प्रवासियों और उनके परिवारों को एक टोल फ्री नंबर के द्वारा ज़रूरत आधारित जानकारी प्रदान की जा सके। यदि पंजाब राज्य का कोई अन्य व्यक्ति इस कथित घुटाले का शिकार हुआ है, तो वह व्यक्ति स्टेट साईबर क्राइम डिविज़न, पंजाब हेल्पलाइन नं. 0172- 2226258 पर संपर्क करके विदेश मंत्रालय, नयी दिल्ली के द्वारा ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकता है।

The post पंजाब पुलिस ने गैर-कानूनी ढंग से कंबोडिया भेजने वाले दो ट्रैवल एजेंटों को किया गिरफ्तार first appeared on Khabar Khaas.