Tuesday , July 16 2024

पंजाब सरकार ने लीची की पहली खेप इंग्लैंड की निर्यात, जौड़ामाजरा ने दिखाई हरी झंडी

कहा, वह दिन दूर नहीं, जब पंजाब के फलों की बदौलत राज्य का नाम अहम विदेशी मंडियों में शामिल होगा

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब सरकार ने एक नया आयाम स्थापित करते हुए पहली बार प्रदेश की लीची को विदेश में निर्यात किया है। बागवानी विभाग की ओर से कृषि व प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (अपेडा) के सहयोग से राज्य के नीम-पहाड़ी ज़िलों पठानकोट, गुरदासपुर और होशियारपुर की लीची की पहली खेप को बाग़वानी मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने ऑनलाइन विधि से हरी झंडी देकर इंग्लैंड के लिए रवाना किया।
इस बारे में जौड़ामाजरा ने बताया कि पंजाब में कुल 3250 हैक्टेयर क्षेत्र में लीची की खेती की जाती है और इसका उत्पादन लगभग 13000 मीट्रिक टन होता है। उन्होंने कहा कि पठानकोट, गुरदासपुर और होशियारपुर ज़िलों में लीची के लिए अनुकूल वातावरण होने के कारण यहां की लीची का प्राकृतिक गहरा लाल रंग है और मिठास अन्य राज्यों की तुलना में बहुत अच्छी है।

बाग़वानी मंत्री ने कहा कि लीची की पहली खेप इंग्लैंड (यू.के) को निर्यात की जा रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार के विशेष प्रयासों से लीची बाग़वान निर्यात के ज़रिए अधिक मुनाफ़ा कमा सकेंगे। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि आने वाले समय में बाग़वानी विभाग व अपेडा के सहयोग से बाग़वानी की अन्य फ़सलों को भी विदेश भेजने के प्रयास किए जाएंगे।उन्होंने कहा कि ज़िला पठानकोट के गांव मुरादपुर के प्रगतिशील किसान राकेश डडवाल की लीची की उपज अमृतसर से इंग्लैंड भेजी गई है।

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि अब वह दिन दूर नहीं, जब पंजाब के फलों के कारण राज्य का नाम विदेशों की प्रमुख मंडियों में शामिल होगा और लीची के उत्पादकों की पहचान विदेशों तक होगी

 

The post पंजाब सरकार ने लीची की पहली खेप इंग्लैंड की निर्यात, जौड़ामाजरा ने दिखाई हरी झंडी first appeared on Khabar Khaas.