Saturday , July 13 2024

ब्रज के संत प्रदीप मिश्रा पर भड़के, बोले- दिया बहुत समय, अब महापंचायत में होगा फैसला, भुगतना होगा दंड

मथुरा. राधा रानी पर विवादित बयानों को लेकर पंडित प्रदीप मिश्रा सुर्खियों में बने हुए हैं. उनके बयानों से ब्रज के संत और राधारानी के भक्त भी खफा हैं. ऐसे में अब ब्रज के संतों ने कथावाचक प्रदीप मिश्रा को दंडित करने का फैसला किया है. इसको लेकर उन्होंने महापंचायत में विचार विमर्श कर दंड तय करने का फैसला किया है. ब्रज के एक संत ने कहा कि प्रदीप मिश्रा को पश्चताप के लिये बहुत समय दे दिया. अब महापंचायत में फैसला करेंगे.

कथावाचक प्रदीप मिश्रा राधा रानी पर विवादित बयान देकर ब्रज के संतो के निशाने पर हैं. इस पर वृंदावन में संतो की आज एक धर्मसभा परिक्रमा मार्ग, गोपाल खार स्थित श्रीमद् भागवत मंदिर में होने वाली है. इसकी अध्यक्षता डॉ. स्वामी आदित्यानंद महाराज करेंगे. इस धर्मसभा में वृंन्दावन के संत, धर्माचार्य, भागवताचार्य और धर्म योद्धाओं ने 24 जून को बरसाना में आयोजित महापंचायत की रणनीति के विषय में चर्चा की.

धर्म रक्षा संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सौरभ गौड़ ने बताया कि 24 जून सोमवार को रासमण्डप, गहवरवन, बरसाना में सायं 3 से 6 बजे तक महापंचायत होगी. जिसमें सम्पूर्ण ब्रजमंडल के साधु-संत, तीर्थस्थलों के प्रमुख आचार्य और ब्रजवासी समाज उपस्थित होंगे. आचार्य रमाकांत गोस्वामी ने कहा कि प्रदीप मिश्रा को ब्रजवासियों ने पश्चाताप करने के लिए बहुत समय दिया अंतत: वह अपने अहंकार में चूर होकर राधा रानी के साथ बृजवासियों का अपमान करते रहे. अब उन्हें इसका दंड भुगतना ही पड़ेगा.

महंत फूलडोल बिहारी दास महाराज ने कहा कि जिस प्रकार प्रदीप मिश्रा ने हमारी आराध्या राधारानी पर अमर्यादित टिप्पणी की है. उसके बाद भी अपनी भूल को ना मानते हुए लगातार सनातन धर्म का अपमान किया है. इसी वजह से संत समाज ने उन्हें सबक सिखाने की ठान ली है. धर्म रक्षा संघ के राष्ट्रीय संयोजक आचार्य बद्रीश महाराज ने कहा कि इस महापंचायत में प्रदीप मिश्रा को क्या दंड देना चाहिए इसका निर्णय लिया जाएगा.

बता दें कि कथावाचक प्रदीप मिश्रा के राधारानी पर दिए विवादित बयान के बाद प्रेमानंद महाराज ने प्रदीप मिश्रा को काफी कुछ खरी खोटी सुनाई थी. जिसके बाद भाजपा के कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय ने दोनों की फोन पर बातकर सुलह करा दी थी, लेकिन ब्रज के संत धर्माचार्य इससे संतुष्ट नहीं हैं. उनकी प्रदीप मिश्रा को चेतवानी है कि जब तक प्रदीप मिश्रा बरसाना आकर माफी नहीं मांगेंगे. तब तक प्रदीप मिश्रा के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी.