Sunday , July 21 2024

पंजाब में स्थापित होगा भक्त कबीर धार स्थापित, सीएम मान ने किया ऐलान

भक्त कबीर जी के 626वें जन्म दिवस मौके राज्य स्तरीय समागम, गरीबी और अन्य बीमारीओं के ख़ात्मे के लिए शिक्षा सबसे कारगर हथियार

खबर खास, होशियारपुर :
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने आज ‘ भक्त कबीर धाम’ स्थापित करने का ऐलान किया जिससे भक्ति आंदोलन के महान संत के जीवन और फलसफे पर व्यापक खोज की जा सके। आज यहाँ भक्त कबीर जी के 626वें जन्म दिवस को समर्पित राज्य स्तरीय समागम दौरान सभा को संबोधित करते मुख्य मंत्री ने कहा कि 15वीं सदी के महान कवि और संत भक्त कबीर जी ने लोगों को सभ्य जीवन जाँच का संदेश दिया।

उन्होंने कहा कि भक्त कबीर के जीवन और फलसफे ने हमेशा ही लोगों को आपसी मेल- जोल वाला जीवन जीने के लिए प्रेरित किया। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह समय की ज़रूरत है कि भक्त कबीर जी के आर्दशों पर चल कर एकता, भाईचारक सांझ और शांति को कायम रखा जाये।

लोगों को भक्त कबीर जी की शिक्षाओं पर सही मायनों में अमल करने का न्योता देते मुख्यमंत्री ने कहा कि जाति, रंग, नस्ल और धर्म के भेदभाव से पर उठ कर बराबरी वाले समाज की सृजना करना समय की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि भक्त कबीर जी के जीवन और महान शिक्षाएं पवित्र श्री गुरु ग्रंथ साहब जी में दर्ज है जिनके द्वारा प्रेम, शांति, सदभावना का संदेश दिया गया। भगवंत सिंह मान ने कहा कि चाहे भक्त कबीर जी का पहला जीवन एक मुस्लिम परिवार में बीता था परन्तु वह हिंदु संत रामानन्द से बहुत प्रभावित थे, जिसका भक्ति लहर दौरान उन की लिखतों पर गहरा प्रभाव पड़ा।

लोगों को महान संत के आर्दशों पर चलने की अपील करते मुख्यमंत्री ने कहा कि यह रास्ता सदभावना वाले और प्रगतिशील समाज की निर्माण में अहम भूमिका निभा सकता है। उन्होंने कहा कि महान सिक्ख गुरू साहिबान ने हमें ज़ुल्म, बेइन्साफ़ी और ज़ुल्म विरुद्ध लड़ने का उपदेश दिया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि उनकी सरकार राज्य की पुरातन शान बहाल करने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रही है।

मुख्य मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य में स्वास्थ्य और शिक्षा प्रणाली को फिर सुरजीत करने के लिए ठोस प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने लोगों को मानक शिक्षा और सेहत सेवाओं से वंचित रखा जिससे वह समाज में तरक्की न कर सकें। उन्होंने कहा कि यह राजनीतिज्ञ चाहते है कि गरीब परिवारों का बच्चा हमेशा उनके रहमो- कर्म पर रहे और कभी तरक्की न करे। इसके उल्ट भगवंत सिंह मान ने कहा कि वह गरीब विद्यार्थियों को मानक शिक्षा दे कर उनको अपने पैरों पर खडा करने के लिए दृढ़ हैं।

मुख्य मंत्री ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में हमारी कोशिशों का नतीजा सब के सामने आने लगा है क्योंकि इस बार सरकारी स्कूलों के 158 विद्यार्थियों ने पहली बार जे. ई. ई. दी परीक्षा पास की है। उन्होंने कहा कि यह तो अभी शुरुआत है क्योंकि आने वाले दिनों में ऐसे अन्य नतीजे सामने आऐंगे जिसके लिए उनकी सरकार लगातार यत्न कर रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाब सरकार ने नौजवानों को 43000 से अधिक नौकरियाँ पूरी तरह योग्यता के आधार पर दी है।

मुख्य मंत्री ने यह भी कहा कि राज्य सरकार विद्यार्थियों को मुकाबले की परीक्षाओं के लिए प्रशिक्षण देने के लिए आठ हाई- टेक कोचिंग सैंटर खोल रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह केंद्र नौजवानों को यू.पी.एस.सी.की परीक्षा पास करने और राज्य और देश में नामवर पदों पर सेवा निभाने के लिए मानक प्रशिक्षण प्रदान करेंगे।

विरोधी पक्ष पर निशाना साधते हुए मुख्य मंत्री ने कहा कि उनके पंजाब हितैषी और विकास समर्थकी कारण विरोधी पक्ष के नेता उन को निशाना बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ते। उन्होंने कहा कि विरोधियों की आलोचना बेतुकी है।
भगवंत सिंह मान ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि विरोधियों की यह चालों उन को अपनी ड्यूटी निभाने से रोक नहीं सकेंगी।

मुख्य मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार शहीद भगत सिंह और अन्य महान आज़ादी संग्रामियों की इच्छाए पूरी करने के लिए पहले ही हर संभव यत्न कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की लोक समर्थकी और विकास समर्थकी नीतियों का उदेश इन महान राष्ट्रीय नेताओं के सपनों को साकार करना है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि लोग भलाई स्कीमों का लाभ निचले स्तर तक लोगों तक पहुँचाने के लिए हर संभव यत्न किये जाएंगे।

मुख्य मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार स्कूलों के सिलेबस में ज़रूरी शोध करेगी जिससे नौजवानों में साकारात्मक ऊर्जा भरी जा सके। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में नक्षा तैयार किया गया और आने वाले दिनों को इस को लागू किया जाएगा। भगवंत सिंह मान ने कहा कि विद्यार्थियों को भविष्य जीवन में ज़िम्मेदार नागरिक बनाने के लिए ऐसा करना समय की ज़रूरत है।

 

 

The post पंजाब में स्थापित होगा भक्त कबीर धार स्थापित, सीएम मान ने किया ऐलान first appeared on Khabar Khaas.