Saturday , June 22 2024

पंजाब में स्वतंत्र, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण मतदान के लिए पुलिस ने किए पुख्ता प्रबंध : डीजीपी

81,000 से अधिक कर्मचारी तैनात

कुल 24,451 पोलिंग स्टेशनों में से 5,000 संवेदनशील
खबर खास, चंडीगढ़ :

लोकसभा के सातवें और अंतिम पड़ाव में प्रदेश के 13 लोकसभा हलकों में कल शनिवार को मतदान होना है। इसे लेकर पंजाब पुलिस ने पुख्ता प्रबंध किए हैं। डीजीपी गौरव यादव ने इस संदर्भ में कहा कि निष्पक्ष, स्वतंत्र और शांतमय ढंग से चुनाव कराने को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। प्रदेश में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, पंजाब पुलिस और पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के होम गार्ड जवानों समेत कुल 81,079 जवानों को पंजाब के सभी जिलों में तैनात किया गया है।

प्रदेश में कुल 24,451 पोलिंग स्टेशन स्थापित किये गए हैं, जिनमें से 5,000 की पहचान संवेदनशील पोलिंग स्टेशनों के तौर पर की गई है। पंजाब में 13 संसदीय हलकों के लिए 328 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे हैं।
डीजीपी गौरव यादव ने कहा कि कुल फोर्स के 50 प्रतिशत से अधिक भाव सीएपीएफ/एसएपी समेत 47,284 कर्मचारियों को 24,451 पोलिंग स्टेशनों पर तैनात किया गया है, जिससे यह सुनिश्चित बनाया जा सके कि वोटर अपनी वोट का प्रयोग निर्विघ्न और आरामदायक ढंग से कर सकें। उन्होंने कहा कि पंजाब के 13 लोक सभा हलकों के लिए चुनाव लड़ रहे सभी उम्मीदवारों को निर्धारित नियमों के अनुसार अपेक्षित सुरक्षा प्रदान की गई है।
डीजीपी ने कहा कि राज्य में नकदी/शराब/नशीले पदार्थों से सम्बन्धित गतिविधियों या किसी भी अन्य असुखद घटना से निपटने के लिए 351 फ्लाइंग सक्वाऐड टीमें, 351 स्टैटिक सरवेलैंस टीमें और 348 क्विक रिएक्शन टीमें भी पूरी तरह से तैयार हैं।

प्रदेश में 205 मजबूत अंतरराज्यीय नाके लगाए गए हैं: डीजीपी (स्पैशल) अर्पित शुक्ला
स्पैशल डीजीपी लॉ एंड ऑर्डर अर्पित शुक्ला ने कहा कि पंजाब पुलिस द्वारा पहले ही राज्य भर में बेहतर तालमेल वाले 205 मज़बूत अंतर-राज्यीय नाके लगाए गए हैं, जिससे शराब और नशा-तस्करों एवं समाज विरोधी तत्वों की गतिविधियों को रोका जा सके। उन्होंने आगे कहा कि राजस्थान, जम्मू और कश्मीर, हरियाणा, चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश समेत पड़ोसी राज्यों द्वारा भी पंजाब से आने-जाने वाले सभी प्वाइंटों पर नाके लगाए जा रहे हैं।

अब तक 642 करोड़ से अधिक कीमत की शराब, नशीली दवाएं और अन्य सामान किया जब्त
एडीजीपी -कम-राज्य पुलिस नोडल अफ़सर, चुनाव, पंजाब एम.एफ. फारूकी ने कहा कि 16 मार्च, 2024 को आदर्श चुनाव आचार संहिता (एमसीसी) की शुरुआत के बाद पंजाब पुलिस ने बेमिसाल बरामदगी करते हुए 13.14 करोड़ रुपए की नकदी समेत 642.24 करोड़ रुपए की कीमत की वैध/अवैध शराब, नशीली दवाएँ, कीमती धातुएं और बेहिसाब नकदी बरामद/जब्त की है। उन्होंने बताया कि राज्य में कुल 3,98,350 लाइसैंसी हथियार जमा करवाए गए हैं, जो कि राज्य के कुल लाईसेंसी हथियारों का 95 प्रतिशत से अधिक हैं।
उन्होंने बताया कि उनको मुख्य निर्वाचन अधिकारी, पंजाब के दफ़्तर से 405 शिकायतें प्राप्त हुई थीं, जिनका निर्धारित समय के अंदर निपटारा किया गया है, और एम.सी.सी. के दौरान चुनावी अपराधों से सम्बन्धित 32 केस दर्ज किये गए हैं। इसके अलावा सभी जिलों को किसी भी इमरजैंसी की स्थिति से निपटने के लिए डीजीपी पंजाब के आरक्षित बल के साथ-साथ 193 आरक्षित बल मुहैया करवाए जा रहे हैं।
एडीजीपी ने कहा कि किसी भी घटना के दौरान गश्त पार्टी द्वारा तुरंत जवाब को सुनिश्चत बनाने के लिए राज्य भर को 2098 रूट ज़ोनों या सैक्टरों में बाँटा गया है, जो कि मज़बूत पुलिस पैट्रोलिंग पार्टियों द्वारा उचित ढंग से कवर किये गए हैं, और बेहतर तालमेल के लिए सभी जिलों को कम-से-कम 11,881 वायरलैस सैट मुहैया करवाए गए हैं, जो कि पंजाब के आठ जिलों में पहचाने गए 102 शैडो क्षेत्रों को भी कवर करते हैं।
उन्होंने कहा कि इन गश्त पार्टियों को इन्टरनेट-समर्थित टेबलेट प्रदान किये गए हैं, जो अधिकारियों को किसी भी घटना वाली जगह पर जल्द से जल्द पहुँचने वाली गश्त पार्टी की पहचान करने में मदद करेंगे।
जि़क्रयोग्य है कि पंजाब में 117 स्टोरेज/काऊंटिंग सैंटर स्थापित किये गए हैं, जो वोटों की गिनती पूरी होने तक क्रमवार सीएपीएफ, एसएपी और जि़ला पुलिस की तीन-स्तरीय सुरक्षा के अधीन हैं।
16 मार्च, 2024 से लेकर अब तक पंजाब पुलिस द्वारा बरामदगी
नकदी: 13.14 करोड़ रुपए
वैध शराब: 82904 लीटर
अवैध शराब: 26697 लीटर
लाहन: 25.08 लाख लीटर
भुक्की: 94 क्विंटल
अफ़ीम: 185 किलोग्राम
नशीले पाउडर: 434 किलोग्राम
हेरोइन: 205 किलो
चरस: 32 किलो
टीके/गोलियां/सिरप: 2.62 लाख