Saturday , June 15 2024

सावधान: पानी से कार धोने पर अब इस शहर में लगेगा 5000 रुपये का जुर्माना

नई दिल्ली. गर्मी के कारण एक तरफ जहां लोगों का जीना मुहाल हो गया तो वहीं देश में कई शहर ऐसे है जहां लोग पानी के लिए तरस रहे है. लेकिन कुछ लोग पानी का दुरुपयोग कर रहे है. इस बीच अगर आप भी पीने वाली पानी से अपनी कार धोते है तो संभल जाइए. क्योंकि पानी खराब करने वालों के खिलाफ सरकार सख्त हो गई है.

गुरुग्राम में पीने के पानी से कार धोने पर 5,000 रुपये का भारी जुर्माना लग सकता है. गुरुग्राम के नगर निकाय, म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ऑफ गुरुग्राम ने ऐलान किया है कि क्षेत्र में गंभीर जल संकट के बीच लोगों को पानी बर्बाद करने से रोकने के लिए जुर्माना लगाया गया है. दिल्ली-एनसीआर के आईटी हब में कई आवासीय परिसर पिछले कुछ हफ्तों में गर्मी के चरम सीमा पर पहुंचने के कारण पानी की आपूर्ति में कमी की शिकायत कर रहे हैं. गुरुग्राम के नगर निकाय ने लोगों से हर दिन सुबह 5 बजे से 9 बजे के बीच अपने वाहनों को पीने योग्य पानी से नहीं धोने का आग्रह किया है. एमसीजी गुरुग्राम के निवासियों पर 5,000 का जुर्माना लगाएगा, अगर उन्हें इस नियम का उल्लंघन करते पाया गया. नगर निकाय ने बार-बार आदेश का उल्लंघन करने वालों के लिए पानी का कनेक्शन हटाने की चेतावनी भी दी है. उनसे जुर्माने के रूप में 5,000 रुपये और कनेक्शन बहाल करने के लिए अतिरिक्त 1,000 रुपये का शुल्क लिया जाएगा.

शहर के नगर निकाय के अनुसार, गुरुग्राम के कुछ हिस्सों में सप्लाई लाइनों पर सीधे तौर पर मोटर और पंपों को बड़े पैमाने पर लगाए जाने से भी जल संकट पैदा हो गया है. इस उल्लंघन की वजह से अक्सर मेन सप्लाई लाइन से पानी का दबाव कम हो जाता है. एमसीजी के आयुक्त नरहरि सिंह बांगर ने कहा कि नगर निकाय गुरुग्राम में अनधिकृत कार वाश केंद्रों पर भी कार्रवाई करेगा. ऐसे केंद्रों को सील कर दिया जाएगा और पानी के कनेक्शन काट दिए जाएंगे. वहीं कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में हाल ही में भीषण जल संकट देखा गया था. क्योंकि वहां भूजल स्तर अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया था. राज्य के जल बोर्ड के फैसले का उल्लंघन करते हुए कार धोने के लिए पीने के पानी का इस्तेमाल करने वालों पर शहर के नगर निकाय ने 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया है.