Saturday , June 15 2024

पूर्व सीएम चन्नी के सेना पर बयान को लेकर चुनाव आयोग ने दी चेतावनी, बताया आचार संहिता का उल्लंघन

खबर खास, चंडीगढ़ :
जालंधर लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार, पूर्व सीएम चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा सेना को लेकर दिए बयान के मामले में निर्वाचन आयोग ने कड़ी चेतावनी जारी की है। आयोग ने चन्नी के इस बयान को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताया है। भविष्य में दोबारा ऐसी गलती न दोहराने की नसीहत दी है।
पंजाब के मुख्य चुनाव अधिकारी के प्रवक्ता ने बताया कि चन्नी को जालंधर जिला निर्वाचन अधिकारी/ डीसी की तरफ से बयान पर स्पष्टीकरण देने के लिए नोटिस जारी हुआ था। कमीशन उनके जबाव से संतुष्ट नहीं है। इसे मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट के मैनुअल अनुबंध एक जनरल कंडक्ट की धारा 2 के विपरीत मानते हुए एमसीसी का उल्लंघन माना है। साथ ही उन्हें चेतावनी दी गई है कि दोबारा इस तरह क बयान न दें।
दरअसल चन्नी की तरफ से 5 मई को प्रेस कांफ्रेंस में सेना को लेकर बयान दिया था। इस दौरान उनकी तरफ से पुंछ हमले को बीजेपी का स्टंट कहा था। उनका कहना था हर बार केंद्र सरकार ऐसी नौटंकी करती आ रही है। ये पूर्व नियोजित स्टंट हैं और भाजपा को जिताने के लिए किए गए हैं। लोगों को मारना और उनके शवों पर खेलना भाजपा का काम है।
इस मामले के सामने आते ही यह तूल पकड़ गया और विपक्षी दलों ने इसे राजनीति रंग दे दिया। आयोग ने इस मामले में नोटिस कर जवाब तलब किया था। हालांकि उनके जवाब से आयोग संतुष्ट नहीं था ।चन्नी ने बाद में कहा था कि उन्हें देश के सैनिकों पर गर्व है लेकिन 2019 पुलवामा आतंकी हमले को लेकर केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार यह पता नहीं लगा सकी कि हमला किसने किया।
आयोग की तरफ से सभी पार्टियों और उम्मीदवारों को नसीहत दी गई है कि उन्हें किसी के व्यक्तिगत जीवन से जुड़े उन पहलुओं की आलोचना करने से बचना चाहिए, जिनका विपक्षी दल के नेताओं या कार्यकर्ताओं की सार्वजनिक गतिविधियों से कोई लेना-देना नहीं है। बेबुनियाद और निराधार आरोपों या उनके कार्यकर्ताओं की आलोचना से बचना चाहिए। राजनीतिक दलों और उनके नेताओं को मतदाताओं को गुमराह करने के लिए आधारहीन और झूठे बयान देने से बचना चाहिए।