Saturday , June 15 2024

सीएम मान ने गुरमीत खुड्डियां के लिए किया चुनाव प्रचार, बठिंडा में किया विशाल जनसभा

लोगों से की खुडि्डयां को भारी वोटों से जितवाने की अपील
विरोधी राशन स्कीम के बारे में झूठी अफवाहें फैला रहे हैं-भगवंत मान
आम आदमी पार्टी पहली सरकार है जो आटा और गेहूं में विकल्प दे रही है – भगवंत मान
बाबा साहेब के नक्शे कदमों पर चल सरकार कर रही पूरे समर्पण से काम
खबर खास, बठिंडा/चंडीगढ़ :
मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मंगलवार को बठिंडा से आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवार गुरमीत सिंह खुड्डियां के लिए चुनाव प्रचार किया। मान ने बठिंडा में एक विशाल जनसभा को संबोधित किया और लोगों से अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल को हराने और गुरमीत खुड्डियां को जिताने की अपील की।
भाषण के दौरान मुख्यमंत्री भगवत मान ने संत राम उदासी का कविता ‘मघदा रहीं वे सूरजा कम्मियां दे वेहड़े’ को गाकर सुनाया और कहा कि हम संत राम उदासी, शहीद भगत सिंह और बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को मानने वाले लोग हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की शपथ लेने के बाद हमने पहले काम किया कि सरकारी दफ्तरों में नेताओं की जगह शहीद भगत सिंह और अंबेडकर की फोटो लगवाई, क्योंकि भगत सिंह ने देश को आजादी दिलाई और अंबेडकर ने देश का संविधान लिखकर उस आजादी को बचाई। मान ने कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर कहा करते थे कि देश की गरीबी हरा कार्ड नीला कार्ड, लाल कार्ड और पीला कार्ड से दूर नहीं हो सकती। गरीबी को सिर्फ शिक्षा के माध्यम से ही मिटाया जा सकता है। इसलिए बाबा साहब ने शिक्षा पर बहुत जोर दिया।
उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार बाबा साहब के अधूरे सपनों को पूरा कर रही है। आप सरकार दिल्ली और पंजाब में गरीब बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए वर्ल्ड क्लास स्कूल बना रही है और शिक्षा के गुणवत्ता में सुधार कर रही है। बठिंडा जनसभा का टाइटल भी यही रखा गया था, ‘बाबा साहब तेरा सपना अधूरा, केजरीवाल और भगवंत मान करेगा पूरा’।
उन्होंने कहा कि मैं आम लोगों की मजबूरी को मर्जी में बदलना चाहता हूं। आज प्राइवेट स्कूलों में अपने बच्चों को पढ़ाना और प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करवाना आपकी मजबूरी है। सरकारी स्कूलों और अस्पतालों पर अभी आपका भरोसा नहीं है क्योंकि वहां अच्छी सुविधा और व्यवस्था नहीं है। इसलिए मैं सरकारी स्कूलों और अस्पतालों को इतना बेहतर बनाना चाहता हूं कि प्राइवेट स्कूल और अस्पताल चुनना आमलोगों की मर्जी होगी, मजबूरी नहीं।
दलित छात्रों पर कहा कि पिछली सरकार के मंत्री दलित छात्रों के स्कॉलरशिप के पैसे खा गए, जिसके कारण केंद्र ने स्कॉलरशिप का पैसा देना बंद कर दिया। अब हमने ने सख्त आदेश दिया है कि स्कॉलरशिप के पैसे के कारण किसी भी दलित विद्यार्थी की डिग्री नहीं रूकनी चाहिए ताकि उनका साल बर्बाद न हो।उन्होंने पंजाब सरकार की घर-घर राशन योजना पर भी स्पष्टीकरण देते कहा कि हमने राशन कम नहीं किया यह लोग पहले 3 माह के बाद 15 किलो राशन देते थे, वहीं अब हम हर माह 5 किलो राशन दे रहे हैं। इसके साथ मान ने कहा कि किसी ने अफवाह उड़ा दी है कि सरकार की तरफ से सिर्फ आटा ही मिलेगा। ऐसा नहीं है। यह बिल्कुल गलत खबर है। लोगों के पास दोनों विकल्प मौजूद है। वह आटा या गेहूं जो मर्जी हो, ले सकते हैं। भगवंत मान ने यह भी कहा जो लोगों को गेहूं मिलेगी वह बिल्कुल ताजा और 1 नंबर की लाल गेहूं ही मिलेगी जो अभी मंडियों में आई है।
भाषण के दौरान मान शिरोमणि अकाली दल बादल और बादल परिवार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि इस बार बादल परिवार का बठिंडा से भी सफाया हो जाएगा। उन्होंने कहा कि लंबी के बाद अब बादल परिवार की बठिंडा वाली आखिरी कील भी आप उम्मीदवार गुरमीत खुड्डियां ही उखाड़ेंगे।
मान ने कहा कि बादल परिवार ने अंग्रेजों और मुगलों की तरह पंजाब को लूटा। अंग्रेज और मुगल तो देश को लूटने ही आए थे इसलिए हमें उसका कम दुख है, लेकिन बादल परिवार ने सेवा और पंथ के नाम पर पंजाब को लूटा इसलिए पंजाब के लोग इन्हें कभी माफ नहीं करेंगे। मान ने कहा कि इस चुनाव में बादल परिवार की राजनीति का अंत होने वाला है। अब वे इतिहास के पन्नों में मिलेंगे।
मान ने सुखपाल खैरा और कांग्रेस पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि खैरा बहुत पंजाब पंजाब करते हैं, लेकिन मैं दावे के साथ यह कह सकता हूं कि वह पंजाबी भाषा की परीक्षा पास नहीं कर सकते। उन्हें 20 प्रतिशत नंबर भी नहीं आएगा। उन्होंने कहा कि पंजाब की सरकारी नौकरियों में जिन भारी नौजवानों को मौका मिला है वह सब 50% नंबर के साथ पंजाबी भाषा की परीक्षा पास हैं। खैर बेवजह इस मुद्दे को उठा रहे हैं।वहीं कांग्रेस पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस नेताओं की आपसी दोस्ती कछुआ और चूहे जैसी है। सब के सब एक दूसरे को मरवाने वाला काम कर रहे हैं।
बठिंडा में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए उम्मीदवार गुरमीत सिंह खुड्डियां ने लोगों को अपील करते कहा कि वह आने वाली 1 जून जिस दिन मतदान होने हैं, उस दिन पंजाब को लूट खाने वालों को जरूर सबक सीखाना। उन्होंने कहा कि बीबी हरसिमरत कौर बादल 3 बार संसद रह चुकी हैं। इसके बावजूद कभी भी वह लोगों के दुख-सुख में शामिल नहीं हुई। बीबी बादल सिर्फ वोटों के मौसम में ही वोट लेने के लिए आती हैं। उन्होंने कहा कि बीबी बादल ने 3 कृषि काले कानूनों को समर्थन देकर पंजाब और पंजाब के किसानों के साथ बहुत बड़ा धोखा दिया है, इस लिए इनको सबक सीखना बहुत जरूर है।