Tuesday , June 18 2024

Updated : पंजाब के स्कूलों में 30 जून तक छुटि्टयों का ऐलान, आंगनबाड़ी केंद्र भी रहेंगे बंद

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब में पड़ रही प्रचंड गर्मी और हीट वेव के रेड अलर्ट को देखते हुए सरकार ने प्रदेश के सभी सरकारी और निजी स्कूलों में 21 मई से 30 मई तक छुटि्टयों की घोषणा की है। यह घोषणा मुख्यमंत्री भगवंत मान की ओर से की गई है। हालांकि पहले स्कूलों में समय बदला गया था लेकिन बावजूद इसके बच्चों को गर्मी से राहत नहीं मिल रही थी। जिसके बाद सारी परिस्थितयों को देखकर यह फैसला सरकार ने लिया है। इसके अलावा पंजाब सरकार ने आंगनवाड़ी केंद्रों में भी 30 जून तक छुटि्टयां कर दी हैं।
वहीं शिक्षा विभाग की तरफ से इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं। इस दौरान टीचिंग, नॉन टीचिंग काडर से संबंधित अधिकारी कर्मचारी चुनाव ड्यूटी व चुनाव स्थिति व्यवस्था में लगी ड्यूटी निभाने को यकीनी बनाएंगे। इससे पहले एक जून से गर्मी की छुटि्टयों से संबंधित आदेश जारी किए गए थे, जो कि 30 जून तक है।
आंगनवाड़ी सेंटर 21 मई से 30 जून तक बंद रहेंगे। आंगनवाड़ी सेंटरों में तीन से छह साल तक के बच्चे आते हैं। इनकी देखभाल करना काफी मुश्किल होती है। इसके चलते सरकार की तरफ से यह फैसला लिया गया है। वहीं, आंगनबाड़ी वर्करों को इस दौरान होम विजिट करना होगा। साथ ही बच्चों को टेक होम राशन मुहैया करवाया जाएगा। विभाग द्वारा मांगी जाने वाली रिपोर्ट भी तय समय पर भरी जाएगी।
इस संदर्भ में शिक्षा विभाग की ओर से जल्दी ही आदेश जारी किया जाएगा।
इससे पहले गत सप्ताह शिक्षा विभाग की तरफ से राज्य में पड़ रही गर्मी और हीट वेव के अलर्ट को लेकर मंथन किया गया गया था। साथ ही स्कूलों के समय बदलने संबंधी आदेश जारी किए थे। उस समय तय हुआ था 20 मई से 30 मई तक स्कूल सुबह 7 बजे से 12 बजे तक खुलेंगे। जबकि डबल शिफ्ट वाले स्कूलों का समय सुबह सवा दस बजे से दोपहर 1.15 बजे तक कर दिया गया था।

शिक्षा विभाग ने जारी की परामर्शी

शिक्षा विभाग द्वारा जारी परामर्शी में कहा गया है कि इस मौसम में ज्यादा पानी का पीना चाहिए। अगर आप दिल, किडनी या लीवर की बीमारियों से पीड़ित हैं और कम पानी पीते हैं। ऐसे लोग डॉक्टरी सलाह के बाद तरल पदार्थ का सेवन करें। ओआरस के घोल का प्रयोग करने का सुझाव भी दिया गया है। इसी तरह घरों में तैयार किए जाने वाले तरल पदार्थ जैसे ही नींबू पानी, लस्सी, नारियल पानी आदि तरल पदार्थ का प्रयोग किया जा सकता है। वहीं, हमेशा ही हलके फीके रंग के कपड़े पहन बाहर जाए और डार्क कलर के कपड़े पहनने से परहेज करें। घर से बाहर जाने के लिए सिर और हाथों को अच्छी तरह ढक कर निकलना चाहिए। टोपी और छाते का प्रयोग करना चाहिए। आंखों की सुरक्षा के लिए चश्मा व चमड़ी की सुरक्षा के लिए सनस्क्रीन का प्रयोग करें।