Thursday , May 30 2024

राजस्थान में पकड़ी गई यूपी की मदारी गैंग, छोटे बच्चों का अपहरण कर उन्हें जमूरा बनाते थे

जयपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस ने उत्तर प्रदेश से आई मदारी गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग छोटे बच्चों का अपहरण करती और उन्हें मदारी का जमूरा बनाती थी. जिस बच्चे का किडनैप किया गया था , उसे कोटा रेलवे स्टेशन से उठाया गया था. लेकिन सात दिन बाद जयपुर रेलवे स्टेशन पर पुलिस ने पूरी गैंग को गिरफ्तार कर लिया.

जयपुर में जीआरपी पुलिस थाने पर आज मंगलवार 14 मई की दोपहर में थाना अधिकारी रविंद्र कुरील ने बताया कि कोटा से 4 साल के एक बच्चे का अपहरण किया गया था. बच्चा अपने पिता के साथ था, लेकिन पिता रेलवे स्टेशन पर टिकट काउंटर पर टिकट ले रहा था. इस दौरान कुछ पल के लिए बच्चे का हाथ पिता ने छोड़ दिया था, लेकिन इतनी ही देर में बच्चे का अपहरण कर लिया गया. उसे लेकर सबसे पहले आरोपी भोपाल चले गए. एक-दो दिन वहां गुजारे, उसके बाद जब राजस्थान में बच्चे की सर्च कुछ कम हुई तो बच्चे को लेकर जयपुर आ गए. जयपुर रेलवे स्टेशन के नजदीक टेंट में रहने लगे.

जयपुर का बच्चा ऐसे कोटा में जाकर मिला

सोमवार रात पुलिस ने जयपुर के अलग-अलग इलाकों में डेरों और टेंट पर रहने वाले इलाकों में सर्च ऑपरेशन चलाया तो. वहां से कोटा का बच्चा मिल गया. पुलिस ने इस मामले में लज्जो, करण, अर्जुन, प्रेम और मुकेश को गिरफ्तार किया है. पांचों उत्तर प्रदेश के रहने वाले बताए जा रहे हैं. उनके पास से 14 साल का एक बच्चा भी बरामद किया गया है, जिसका 10 साल पहले इन्होंने अपहरण किया था.

वारदात करते ही निकल जाते थे दूसरे राज्य

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह गैंग छोटे बच्चों का अपहरण करती है और उन्हें मदारी जमूरे के खेल में लगा देती है. इसके अलावा उनसे भीख मंगवाई जाती है और चोरी की बड़ी वारदातों के लिए इन बच्चों से रेकी भी करवाई जाती है. पूरी गैंग कई शहरों में फैली हुई है और अलग-अलग जिलों में डेरा बनाकर रहती है. अगर राजस्थान में वारदात करते हैं तो कुछ दिन के लिए दूसरे राज्य में चले जाते हैं और दूसरे राज्यों में वारदात करते हैं तो कुछ दिन के लिए राजस्थान चले आते हैं. उनकी गैंग बड़ी लंबी है और अब पूरी गैंग को साफ करने की कोशिश की जा रही है.