Sunday , May 19 2024

एआईएमआईएम चीफ ओवैसी की मुश्किलें बढ़ीं, यूपी में सांप्रदायिक टिप्पणी के लिए जारी होगा नोटिस

वाराणसी. एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने 25 अप्रैल को वाराणसी में पीडीएम न्याय मोर्चा की एक जनसभा को संबोधित किया था. इस दौरान कथित सांप्रदायिक बयान देने के लिए उन्हें जल्द ही नोटिस जारी किया जाएगा. नोटिस जिला निर्वाचन अधिकारी की ओर से अतिरिक्त रिटर्निंग अधिकारी द्वारा जारी किया जाएगा.

काशी क्षेत्र के भाजपा कानूनी सेल के संयोजक शशांक शेखर त्रिपाठी ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि असदुद्दीन ओवैसी ने वाराणसी में एक जनसभा को संबोधित करने के दौरान सांप्रदायिक बयान दिया था.

अतिरिक्त रिटर्निंग ऑफिसर सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट नीरज पटेल ने रविवार को शिकायत मिलने की पुष्टि की है. उनका कहना है कि शुरुआती जांच के बाद, ओवैसी को नोटिस जारी किया जा रहा है. बीते गुरुवार को जनसभा में ओवैसी ने आरोप लगाया था कि मुख्तार अंसारी की न्यायिक हिरासत में हत्या कर दी गई. वह शहीद हुए और ऐसे लोग कभी नहीं मरते.

उन्हें बचाना भाजपा सरकार की जिम्मेदारी थी, लेकिन वह विफल रही. अपने 40 मिनट के संबोधन में ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा था, अखिलेश यादव का आधा परिवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठकर चाय पीता है और वह हमसे अपनी जान दे देने के लिए कहते हैं.