Thursday , May 30 2024

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सिबिन सी द्वारा फेसबुक लाइव के ज़रिये पंजाब के वोटरों के साथ बातचीत

लोक सभा मतदान के 2024 दौरान चुनाव प्रक्रिया को और ज्यादा कुशल और पारदर्शी बनाने के लिए माँगे सुझाव
मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा लोगों को सी-विजल एप, टोल- फ्री नंबर 1950 और भारत निर्वाचन आयोग के एन. जी. एस. पोर्टल के द्वारा चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन सम्बन्धी रिपोर्ट करने की अपील
कहा, गर्मी के चलते पंजाब के पोलिंग स्टेशनों पर छबील, शैड, पीने वाले पानी और कुर्सियों का किया जायेगा ख़ास प्रबंध
नये वोटर 4 मई, 2024 तक बना सकते हैं अपनी वोट
वोटर अपनी वोट डालने के लिए आधार कार्ड समेत 12 चुनिंदा दस्तावेज़ों का कर सकते हैं प्रयोग
खबर खास, चंडीगढ़ :
लोक सभा मतदान 2024 के दौरान चुनाव प्रक्रिया को और ज्यादा कुशल, पारदर्शी बनाने और वोटरों को जागरूक करने और उनके कीमती सुझाव लेने के लिए अपनी किस्म की पहलकदमी के अंतर्गत मुख्य निर्वाचन अधिकारी सिबिन सी ने आज ‘टॉक टू योर सीईओ पंजाब’ विषय के अंतर्गत फेसबुक लाइव सैशन के दौरान पंजाब के लोगों के साथ बातचीत की।
इस सैशन के दौरान मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने वोटरों के अलग-अलग सवालों के जवाब दिए और ’इस बार 70 पार’ के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए उनको वोटिंग प्रक्रिया में सक्रियता से हिस्सा लेने की अपील करते हुये चुनाव आचार संहिता के किसी भी तरह का उल्लंघन सम्बन्धी आयोग को रिपोर्ट करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि 2019 के लोक सभा मतदान के दौरान पंजाब की वोट प्रतिशतता 65.96 फीसद रही थी और अब लोक सभा मतदान 2024 के दौरान यह लक्ष्य 70 फीसद निश्चित किया गया है। सिबिन सी ने यह भी बताया कि नौजवान वोटर अपनी वोट 4 मई, 2024 तक बना सकते हैं।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी के दफ़्तर को अब तक चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन सम्बन्धी 1600 से अधिक शिकायतें प्राप्त हुई हैं, जिनका निपटारा कर दिया गया है। इसके साथ ही आयोग को सी-विजल एप पर 1059 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें से 733 सही पायी गई और निर्वाचन आयोग की हिदायतों अनुसार 100 मिनटों के अंदर-अंदर 689 शिकायतों का निपटारा कर दिया गया है। उन्होंने लोगों को सी- विजल एप, टोल- फ्री नंबर 1950 और भारत निर्वाचन आयोग के राष्ट्रीय शिकायत सेवा पोर्टल ( एन. जी. एस. पी.) के द्वारा उल्लंघनाओं की रिपोर्ट करने की अपील की।
पंजाब में पोलिंग के दौरान गर्मी से राहत सम्बन्धी पूछे एक सवाल के जवाब में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि इसकी तरफ विशेष ध्यान दिया जा रहा है और वोटरों को अत्यधिक गर्मी से राहत देने के लिए पोलिंग स्टेशनों में मीठे जल (छबील) का प्रबंध किया जायेगा। उन्होंने आगे बताया कि वोटरों को गर्मी से राहत देने के लिए हर पोलिंग स्टेशन पर वाटर कूलर, पंखे, बैठने का प्रबंध और शैड होंगे। यदि वोट डालने के लिए पंक्ति में 10 से अधिक लोग लगे होंगे तो बैठने के लिए कुर्सी की सुविधा प्रदान की जायेगी। सिबिन सी ने आगे बताया कि बच्चों के लिए विशेष करैच्च रूम, बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं के लिए अलग कतारों और हर पोलिंग स्टेशन पर कम से कम एक व्हीलचेयर की उपलब्धता को यकीनी बनाया जायेगा। इसके साथ ही पोलिंग स्टाफ को मैडीकल किटें भी प्रदान की जाएंगी।
हथियार जमा करवाने संबंधी पूछे सवाल के सम्बन्ध में सिबिन सी ने कहा कि यह हर किसी के लिए लाज़िमी नहीं है और लोग अपने सम्बन्धित जिले के डिप्टी कमिश्नर को हथियार रखने का कारण बता कर इसकी छूट प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे मामलों की समीक्षा के लिए हर जिले में पहले ही एक-एक कमेटी का गठन किया जा चुका है। एक अन्य सवाल के जवाब में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि महिला स्टाफ को उनके घरों के नज़दीक चुनाव ड्यूटी पर तैनात करने का विशेष प्रबंध करने की कोशिश की जायेगी। उन्होंने आगे बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी की वैबसाईट पर बी. एल. ओज़ की सूची उपलब्ध करवाई गई है।
आनलाइन वोटिंग की सुविधा के बारे पूछे गए सवाल के जवाब में सिबिन सी ने वोटरों को बताया कि अभी तक भारत निर्वाचन आयोग द्वारा ऐसी कोई सुविधा नहीं दी गई है और यहाँ तक कि 1600 के करीब रजिस्टर्ड एन. आर. आई. वोटरों को अपनी वोट डालने के लिए सम्बन्धित पोलिंग स्टेशनों पर ही जाना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि वोटर अपनी वोट डालने के लिए वोटर कार्ड के इलावा आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लायसंस, मनरेगा जोब् कार्ड समेत 12 चुनिंदा दस्तावेज़ों का प्रयोग कर सकते हैं।
सुरक्षा प्रबंधों के बारे बात करते हुये मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि राज्य में सरहदी इलाकों और पहचान किये गए संवेदनशील पोलिंग क्षेत्रों की तरफ विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि पंजाब पुलिस के इलावा अर्ध सैनिक बलों की 25 कंपनियाँ राज्य में तैनात की गई हैं, जिनकी संख्या ज़रूरत अनुसार बढ़ाई जा सकती हैं। उन्होंने बताया कि वोटिंग वाले दिन अर्थात 1 जून को राज्य भर के पोलिंग स्टेशनों की 100 फीसद वैबकास्टिंग यकीनी बनाई जायेगी। सिबिन सी ने आगे बताया कि समूची चुनाव प्रक्रिया के दौरान चुनाव आचार संहिता के किसी भी तरह का उल्लंघन पर पैनी नज़र रखने के लिए फ्लाइंग स्क्वाड व्हीकल और स्टैटिक सरवेलैंस टीमें पूरी तरह सक्रिय हैं।