Wednesday , April 24 2024

मुख्तार अंसारी की मौत के बाद पूरे यूपी में धारा-144 लागू, बांदा डीएम ने दिए जांच के आदेश

लखनऊ/नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की गुरुवार देर रात दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। जेल की बैरक में मुख्तार अंसारी की तबीयत खराब होने पर उसे रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज ले आया, जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही थी। मेडिकल कॉलेज से जारी बुलेटिन के अनुसार, मुख्तार अंसारी को गुरुवार रात 8:25 बजे बेहोशी की हालत में लाया गया था। नौ डाक्टरों की टीम ने तत्काल इलाज शुरू किया। हालांकि, इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गई। इस सूचना के बाद इलाके में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई। पुलिस ने बताया कि पूरे यूपी में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है।

मुख़्तार अंसारी की मौत के मामले में बांदा डीएम ने जांच के आदेश दे दिए हैं. सूत्रों के अनुसार, डीएम के आदेश के बाद तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया गया है. मुख्तार अंसारी के मौत के मामले में तीन सदस्यीय टीम इसकी जांच करेगी. पूर्व विधायक अंसारी का शाम को दिल का दौरा पड़ने से बांदा के अस्‍पताल में मृत्‍यु हो गई थी.

उधर, सपा नेता रामगोपाल यादव ने कहा है कि ‘पूर्व विधायक मुख़्तार अंसारी की जिन परिस्थितियों में मृत्यु हुई वह अत्यधिक चिंताजनक है. उन्होंने न्यायालय में अर्ज़ी देकर पहले ही ज़हर के द्वारा अपनी हत्या की आशंका व्यक्त की थी. मौजूदा व्यवस्था में तो न जेल में कोई सुरक्षित, न पुलिस कस्टडी में और न अपने घर में. प्रशासनिक आतंक का माहौल पैदा करके लोगों को मुंह बंद रखने को विवश किया जा रहा है. क्या मुख़्तार अंसारी द्वारा न्यायालय में दी गयी अर्ज़ी के आधार पर कोई न्यायिक जाँच के आदेश करेगी यूपी सरकार?’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी जेल में बंद नेता मुख्तार अंसारी के निधन के बाद गुरुवार रात अपने आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई. बैठक में डीजीपी प्रशांत कुमार और वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया और हालात का जायजा लिया और अंसारी की मौत के कारण उत्पन्न सुरक्षा मुद्दों पर चर्चा की. मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को राज्यभर के सभी जिलों में कानून व्यवस्था बनाए रखने को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.