Wednesday , April 24 2024

‘पंजाब के सामाजिक-आर्थिक विकास में सक्रिय हिस्सेदार बनने के लिए नये विचारों और खोजों का प्रयोग करें’

मुख्यमंत्री की नौजवानों से की अपील, नौजवानों के नये विचारों को उत्साहित करने का दावा

नौजवानों को देश की सब कीमती पूंजी बताया

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने नौजवानों को राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में सक्रिय हिस्सेदार बनने के लिए अपने नये विचारों और खोजों का प्रयोग करने का न्योता दिया। यहां टीआईई सीओएन के दौरान उपस्थित को संबोधन करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि वह हमेशा नये विचारों और खोजों के पक्षधर रहे हैं और आम आदमी को अधिक अधिकार देना समय की मुख्य ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि इसलिए सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों में उद्यमी हुनर को बढ़ावा देने के लिए बिजनेस बलास्टरज़ स्कीम शुरू की गई है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि नौजवानों के कॅरियर के लिए मार्गदर्शन यकीनी बनाना समय की मुख्य ज़रूरत है, जिससे उनको बड़े स्तर पर सशक्त बनाया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के नौजवानों की भलाई के लिए ठोस प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार का ध्यान इस बात को यकीनी बनाना है कि नौजवान नौकरी तलाशने वालों की बजाय नौकरी देने वाले बनें। भगवंत सिंह मान ने कहा कि एक प्रगतिशील और खुशहाल पंजाब की सृजना करना समय की ज़रूरत है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में शिक्षा क्रांति के युग की शुरुआत करते हुये पंजाब सरकार ने राज्य में ‘स्कूल आफ एमिनेंस’ की स्थापना की है। उन्होंने कहा कि यह हाई-टैक स्कूल नौजवानों के लिए अत्याधुनिक सहूलतों के साथ लैस हैं, जिससे वह जीवन के हर क्षेत्र में उत्कृष्टता को यकीनी बनाते हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह अत्याधुनिक स्कूल विद्यार्थियों को मानक शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रेरक के तौर पर काम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नौजवानों को ज़िंदगी के हर क्षेत्र में लगन के साथ मेहनत करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह यकीनी बनाना समय की ज़रूरत है कि वह आने वाले समय के साथ प्रासंगिक बने रहें। मान ने कहा कि राज्य सरकार राज्य और इसके लोगों की भलाई के लिए असाधारण विचारों को उत्साहित कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सरकारी दफ़्तरों के कामकाज के समय में तबदीली का ऐतिहासिक फ़ैसला लिया था, जिससे 55 मेगा वाट बिजली की बचत हुई है। उन्होंने कहा कि इससे आम लोगों को झुलसती गर्मी से बच कर काम करवाने की सुविधा मिली है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इससे किसानों को निर्विघ्न बिजली प्रदान करने में सहायता मिलती है और इससे यातायात को सुचारू बनाने में भी मदद मिलती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार अलग-अलग रंगों वाले स्टैंप पेपर लायी है, जो राज्य में औद्योगिक क्रांति के नये युग की शुरुआत करने की तरफ एक कदम है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाब ऐसा पहला राज्य है, जिसने उद्यमियों को अपने यूनिट स्थापित करने के लिए हरे रंग के स्टैंप पेपर जारी किये हैं, जिससे राज्य के औद्योगिक विकास को अपेक्षित बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने इसको क्रांतिकारी कदम बताया, जिसका उद्देश्य राज्य में अपनी यूनिटें स्थापित करने के इच्छुक उद्यमियों के लिए कारोबार करने की सुविधा को उत्साहित करना है।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि इस पवित्र धरती का एक-एक इंच महान गुरूओं, संतों, पीरों, शहीदों और कवियों की चरण स्पर्श प्राप्त है। उन्होंने कहा कि पंजाबी वैश्विक नागरिक हैं, जिन्होंने अपनी मेहनत और लगन के साथ विश्व भर में अपनी काबिलीयत का सबूत दिया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाबियों को सख़्त मेहनत का वरदान प्राप्त है, जिस कारण उन्होंने हरेक क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह खुशी की बात है कि नौजवान अपनी पहचान कायम करने के लिए अथक यत्न कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह एक अच्छा संकेत है क्योंकि नौजवान अपनी मेहनत, लगन और वचनबद्धता के साथ अपने-अपने क्षेत्रों में ऊँचा स्थान हासिल करना चाहते हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह अच्छा संकेत है और राज्य सरकार इस नेक कार्य के लिए उनको पूर्ण सहयोग देगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नौजवानों को किसी पर निर्भर नहीं रहना चाहिए और उनको ज़िंदगी में सफलता की नयी कहानी लिखने के लिए सख़्त मेहनत करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अपने बच्चे को हर सुख- सुविधा प्रदान करने वाले माता पिता अपने बच्चों को ‘सर्कस का शेर’ बना रहे हैं, जिनको शिकार करना नहीं आता। भगवंत सिंह मान ने कहा कि हमें अपने बच्चे को सख़्त मेहनत करने के योग्य बनाना चाहिए जिससे वह जीवन में सफल हो सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह हवाई अड्डों पर रनवे हवाई जहाज़ को सुचारू ढंग के साथ उड़ान भरने की सुविधा देते हैं, उसी तरह राज्य सरकार नौजवानों को उनके सपनों को साकार करने में मदद कर रही है। उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि नौजवानों के विचारों को उड़ान देने के लिए हर संभव यत्न किये जा रहे हैं और इस नेक कार्य के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी। मान ने नौजवानों से अपील की कि वह समाज में अपनी अलग पहचान बनाने के लिए हरसंभव यत्न करें जिससे वह बुलन्दियां छू सकें। मुख्यमंत्री ने नौजवानों को ज़ोर-शोर के साथ काम करने और मेहनत में विश्वास रखने के लिए कहा क्योंकि यही सफलता की कुंजी है। उन्होंने नौजवानों को राज्य में बड़े स्तर पर निवेश करने के लिए प्रेरित किया क्योंकि इस धरती पर तरक्की और खुशहाली की बहुत संभावनाएं हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य सरकार राज्य के विकास और लोगों की खुशहाली को गति देने के लिए वचनबद्ध है।

The post ‘पंजाब के सामाजिक-आर्थिक विकास में सक्रिय हिस्सेदार बनने के लिए नये विचारों और खोजों का प्रयोग करें’ first appeared on Khabar Khaas.