Wednesday , April 24 2024

किसानों ने पुलिस के ड्रोनों का निकाला तोड़, पतंगों से गिरा रहे ड्रोन, आंदोलन जोर पकड़ रहा

अंबाला. किसान आंदोलन 2.0 का आज दूसरा दिन है. किसानों को आगे बढऩे में ड्रोन बाधा बन रहा है. किसान भी ड्रोन को गिराने की कोशिश कर रहे हैं और इसके लिए उन्होंने रास्ता ढूंढ लिया है. किसान बड़ी संख्या में पतंग लेकर पहुंचे हैं और शंभू बॉर्डर पर पतंग उड़ा रहे हैं, ताकि पतंग की डोर में ड्रोन को फंसाकर गिराया जाए.

हरियाणा पुलिस और अन्य सुरक्षा कर्मी शंभू बॉर्डर पर पंजाब की तरफ जुटे किसानों पर लगातार ड्रोन से शैलिंग कर रहे हैं. किसानों ने मंगलवार को ड्रोन पर पथराव भी किया था. लेकिन ऊंचाई अधिक होने के चलते वह ड्रोन को निशाना नहीं बना सके. किसान शंभू बॉर्डर पर जंग के लिए तैयार हैं. बैरिकेडिंग को तोडऩे के लिए किसान जेसीबी मशीनें मंगवा रहे हैं. आंसू गैस के गोलों को निष्क्रिय करने के लिए किसानों ने वाटर स्प्रे और गीली बोरियां लगाई हैं. गाजीपुर बॉर्डर पर मेरठ एक्सप्रेस वे फ्लाईओवर के नीचे तो पहले से ही रोड पूरी तरह से बंद है. कंक्रीट की दीवार के ऊपर लोहे के कंटीले तार पहले से ही लगे हैं, उसके पीछे तीन लेयर की बैरिकेडिंग है.