Thursday , February 22 2024

थम नहीं रहा राज्यपाल व मुख्यमंत्री के बीच का विवाद! |

Khabar Khaas

राज्यपाल ने रोके तीन अहम बिल
सुप्रीम कोर्ट से मिल चुकी है मंजूरी
खबर खास, चंडीगढ़:
पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित और मुख्यमंत्री भगवंत मान के बीच का विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। इस बार विवाद की शुरुआत राज्यपाल की ओर से तब शुरु हुई जब उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से मंजूरी मिलने के बावजूद तीन अहम बिलों पर खुद मंजूरी देने की बजाय राष्ट्रपति को मंजूरी के लिए भेज दिया गया।
गौर रहे कि इससे पहले पंजाब विधानसभा सत्रों को राज्यपाल पुरोहित ने पहले गैर-संवैधानिक घोषित कर दिया था। जिसके बाद मुख्यमंत्री मान ने सुप्रीम कोर्ट का रुख कर लिया था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राज्यपाल ने लंबित बिलों को मंजूरी दी और दोबारा सत्र बुलाने को लेकर भी हरी झंडी दे दी गई।
लेकिन उसके बाद अब राज्यपाल पुरोहित ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 200 के अनुसार तीन विधेयकों को भारत के राष्ट्रपति के विचार के लिए रिजर्व कर दिया है।
इन तीनों बिलों में पंजाब विश्वविद्यालय कानून (संशोधन) विधेयक, 2023 और सिख गुरुद्वारा (संशोधन) विधेयक, 2023 के अलावा पंजाब पुलिस (संशोधन) विधेयक, 2023 शामिल हैं।
गौर रहे कि पिछले सप्ताह ही राज्यपाल ने विधानसभा सत्रों का विवाद निपटने के बाद पंजाब से संबंधित कालेज संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी थी। इस विधेयक का उद्देश्य सरकारी सहायता प्राप्त निजी कॉलेजों के लिए पंजाब शैक्षिक न्यायाधिकरण के कामकाज को सुव्यवस्थित करना है। इसके अलावा खास बात यह है कि यह बिल भी इस साल 19 और 20 जून को आयोजित विशेष सत्र में राज्य विधानसभा द्वारा पारित चार विधेयकों में से एक था और तभी से यह बिल राज्यपाल के पास लंबित था।