Tuesday , February 27 2024

नशा तस्करी पर नकेल कसने के लिए दस सीमावर्ती जिलों की प्रवेश सीमाएं सील |

ऑपरेशन के दौरान 23 मामले दर्ज, 26 गिरफ्तार और कई वाहन जब्त
खबर खास, चंडीगढ़:
पंजाब पुलिस द्वारा बुधवार को एक विशेष ऑपरेशन ‘ऑपरेशन सील-5’ चलाया गया, जिसके अंतर्गत सीमावर्ती राज्य में दाखि़ल होने या बाहर जाने वाले सभी वाहनों की चौकिंग की गई, जिससे पंजाब में नशा तस्करी और शराब तस्करी पर नजऱ रखने के साथ-साथ गैंगस्टरों और समाज विरोधी तत्वों की गतिविधियों पर भी बारीकी से नजर रखी जा सके।
यह चौकिंग डायरैक्टर जनरल ऑफ पुलिस ( डीजीपी) पंजाब गौरव यादव के निर्देशों पर एक ही समय पर सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक की गई।
विशेष डीजीपी कानून-व्यवस्था अर्पित शुक्ला ने बताया कि बठिंडा, पटियाला और रूपनगर रेंज के ए.डी.जी.पी, फरीदकोट रेंज के आईजीएसपी और बॉर्डर, जालंधर और फिऱोज़पुर रेंज के डीआईजी को सरहदी राज्यों के अपने समकक्ष रेंज आईजीएसपी के साथ तालमेल करने के लिए कहा गया था, जिससे प्रभावशाली ढंग से ‘सील- 5’ के हिस्से के तौर पर नाकाबंदी को सुनिश्चित बनाया जा सके। उन्होंने बताया कि सरहदी जिलों के सभी एसएसपीज़ को सरहदी जिलों की रणनीतिक स्थानों पर साझे नाके लगाने और गज़टेड अधिकारियों/ एसएचओज़ की निगरानी अधीन सीलिंग प्वाइंट्स पर मज़बूत ‘नाके’ लगाने के लिए अधिक से अधिक संख्या जुटाने के निर्देश दिए हैं।
उन्होंने कहा कि 10 जिलों के सभी 131 एंट्री/ एग्जिट प्वाइंट्स, जोकि चार सरहदी राज्यों और यूटी चंडीगढ़ के साथ लगते हैं, पर इंसपैक्टरों/डी.एस.पी की निगरानी अधीन 1200 से अधिक पुलिस कर्मचारियों से लैस मज़बूत नाके लगाए गए। 10 अंतर-राज्यीय सरहदी जिलों में पठानकोट, श्री मुक्तसर साहिब, फाजिल्का, रोपड़, एसएएस नगर, पटियाला, संगरूर, मानसा, होशियारपुर और बठिंडा शामिल हैं।
उन्होंने आगे कहा, ‘‘हमने सभी पुलिस कर्मचारियों को सख़्ती से हिदायत की थी कि इस कार्यवाही के दौरान लोगों के वाहनों की चौकिंग करते समय हरेक के साथ दोस्ताना ढंग और विनम्रता से पेश आएँ।’’
विशेष डीजीपी ने बताया कि राज्य में दाखिल/ बाहर जाने वाले 3760 वाहनों की चौकिंग की गई, जिनमें से 271 के चालान किए गए और 46 को ज़ब्त किया गया। पुलिस ने 23 एफआईआर दर्ज करके 26 व्यक्तियों को गिरफ़्तार भी किया। इस दौरान पुलिस टीमों ने 211 संदिग्ध व्यक्तियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।