Friday , July 19 2024

अमन अरोड़ा द्वारा आई. टी., इनोवेशन और प्रौद्यौगिकी-आधारित पुलिसिंग के क्षेत्र में बेहतर अभ्यासों का पता लगाने के लिए हैदराबाद का दौरा

प्रमुख आई. टी. कम्पनियां टेक महिंद्रा, ग्रीन गोल्ड एनिमेशन, आदि के साथ किया विचार-विमर्श; पंजाब में निवेश करने का दिया न्योता

 

चंडीगढ़, 17 नवंबरः पंजाब के शासन सुधार और शिकायत संबंधी मंत्री अमन अरोड़ा ने आई. टी., इनोवेशन और प्रौद्योगिकी- आधारित पुलिसिंग के क्षेत्र में तेलंगाना राज्य द्वारा अपनाये जा रहे प्रमुख अभ्यासों का पता लगाने के लिए तेलंगाना के हैदराबाद का अध्ययन दौरा शुरू किया। यह दौरा मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान की तरफ से राज्य भर में प्रशासन को और बेहतर बनाने के लिए सेवा प्रदान करने और प्रौद्यौगिकी का लाभ उठाने के लिए उनको दिए हुक्मों को अमल में लाते हुये शुरू किया गया।

इस दौरे के दौरान मंत्री अरोड़ा के साथ शासन सुधार विभाग के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह और पंजाब सरकार के सीनियर अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल भी उपस्थित था। उन्होंने तेलंगाना की कुशल सेवा डिलीवरी प्रणालियों के बारे गहरी जानकारी प्राप्त करने के लिए सिटिजन सर्विस डिलीवरी सैंटर ’मीसेवा’ से अपना दौरा शुरू किया। उन्होंने तेलंगाना राज्य की आई. टी. पहलकदमियां, उभरती तकनीकों, डाटा सैंटर के संचालन और ए. आई. / एम. एल. / ब्लॉक चेन, बिग्ग डाटा को लागू करने और उनके व्यावहारिक अमलों की बारीकी से जाँच की।

इसके इलावा उन्होंने तेलंगाना में कौशल विकास को उत्साहित करने के लिए तेलंगाना सरकार की तरफ से इस्तेमाल की गई रणनीतियों को जांचा और स्टार्ट-अपस को उत्साहित करने के लिए स्थापित नीतियों और बुनियादी ढांचे का मूल्यांकन किया।

शासन में प्रौद्यौगिकी की भूमिका के बारे और जानकारी लेने के लिए श्री अमन अरोड़ा और उनकी टीम ने कमांड एंड कंट्रोल सैंटर का दौरा किया, जहाँ उन्होंने देखा कि कैसे हैदराबाद पुलिस नागरिकों के जीवन को सुचारू बनाने के साथ-साथ कानून और व्यवस्था बरकरार रखने के लिए प्रौद्यौगिकी का प्रयोग करती है।

पंजाब में आई. टी. निवेशों को आकर्षित करने के लिए शासन सुधार मंत्री ने टेक महिंद्रा, ग्रीन गोल्ड एनिमेशन आदि जैसी प्रमुख आई. टी. कम्पनियों के साथ विचार-विमर्श किया और उनको राज्य में अपनी इकाईयां स्थापित करने का न्योता दिया। उन्होंने पंजाब में उद्योग अनुकूल माहौल सृजन करने सम्बन्धी पंजाब सरकार की अटल वचनबद्धता को दोहराया जो आई. टी. कारोबारों के विकास और सफलता के लिए लाभप्रद है।

प्रतिनिधिमंडल ने अपना दौरा समाप्त करके पंजाब में आई. टी. क्षेत्र के विकास, नवीनतम खोजों और प्रौद्यौगिकी-आधारित प्रशासन के लिए सिफ़ारिशों की रूप-रेखा दर्शाती व्यापक रिपोर्ट मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के समक्ष पेश करने के लिए तैयार की।

मंत्री अमन अरोड़ा ने कहा कि तेलंगाना आई. टी. और नवीनतम खोजों में अग्रणी है और हम इससे बहुत कुछ सीख सकते हैं। उन्होंने आगे कहा कि हम पंजाब में सेवाएं प्रदान करने और प्रशासन को बेहतर बनाने के लिए वचनबद्ध हैं और इस मंतव्य के लिए हम प्रौद्यौगिकी का प्रयोग करेंगे।

उन्होंने ने तेलंगाना सरकार द्वारा राज्य में कौशल विकास में विस्तार करने सम्बन्धी इस्तेमाल किये जाते ढंगों की जाँच की। इस के साथ ही राज्य के स्टार्ट-अप ईकोसिस्टम जैसे वी-हब, टी-हब के प्रतिनिधियों के साथ भी मुलाकात की। मंत्री ने राज्य के हुनरमंद नौजवानों और उद्योग अनुकूल सरकार का हवाला देते हुये उनको पंजाब में निवेश करने का न्योता दिया।

अमन अरोड़ा ने कहा कि पंजाब कारोबार शुरू करने के लिए बेहतर स्थान है। पंजाब में हुनरमंद नौजवान और उद्योग अनुकूल सरकार है और पंजाब की आर्थिकता भी ऊँचाईयों की तरफ बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि वह स्टार्ट-अपस को पंजाब में निवेश करने और हमारी सफलता की कहानी का हिस्सा बनने के लिए उत्साहित करते हैं।

जलवायु परिवर्तन गंभीरता को उजागर करते हुये शासन सुधार मंत्री और उनके प्रतिनिधिमंडल ने जलवायु परिवर्तन सम्बन्धी चुनौतियों को हल करने में संभावित सहयोग का पता लगाने के लिए इंडियन स्कूल आफ बिज़नस (आई. एस. बी.), हैदराबाद कैंपस का दौरा किया। उन्होंने डाटा पोर्टल और अन्य ई-गवर्नेंस प्रोजेक्टों को लागू करने के मौकों पर चर्चा की जो पंजाब में सेवा प्रदान करने में सुधार करने और जलवायु परिवर्तन सम्बन्धी मुद्दों से निपटने में मददगार साबित हो सकते हैं।

हैदराबाद का दौरा करने वाले पंजाब सरकार के प्रतिनिधिमंडल में सीनियर मैनेजर शासन सुधार श्री मनुज सिआल, जनरल मैनेजर श्री विनेश गौतम, जनरल मैनेजर श्री चरनजीत सिंह, ज्वाइंट डायरैक्टर उद्योग श्री दीपइन्दर ढिल्लों, एस. टी. पी. आई. मोहाली के डायरैक्टर श्री अजय श्रीवास्तव शामिल थे।