Sunday , February 5 2023

UP : लखनऊ, बनारस, आगरा समेत इन 17 जिलों की हवा हुई जहरीली, जानें अपने शहर का हाल

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी वायु प्रदूषण काफी बढ़ा है. इससे लोगों को सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही है और बहुत सी बीमारियां लोगों को अपने गिरफ्त में ले रही है. वायु प्रदूषण को देखते हुए यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) ने इसमें कमी लाने के लिए मानकों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. इन मानकों का पालन न करने पर जिम्मेदार लोगों और संस्थाओं के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है.

बता दें कि राजधानी में वायु प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है, जिससे लोग सांस लेने में परेशानी महसूस कर रहे हैं. बहुत से ऐसे मरीज है जिन्हें अस्थमा, सीओपीडी और दिल संबंधी, सांस संबंधी समस्या है, उनके लिए वायु प्रदूषण और भी परेशानी बढ़ा रहा है. इसी को देखते हुए यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने वायु प्रदूषण में कमी लाने के लिए मानकों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. वहीं, बोर्ड के सदस्य सचिव अजय शर्मा ने कहा कि वायु प्रदूषण के लिहाज से प्रदेश के 17 शहर आगरा, कानपुर, लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा, अनपरा, गजरौला, खुर्जा, बरेली, मुरादाबाद, झांसी, फिरोजाबाद, रायबरेली और गोरखपुर काफी संवेदनशील हैं.

नगर निकायों में मैकेनिकल स्ट्रीट स्वीपर के माध्यम से सड़कों की नियमित सफाई के साथ पानी छिड़काव के निर्देश दिए गए हैं. कई शहरों में एंटी स्मॉग गन का भी प्रयोग किया जा रहा है. निर्माण एवं विध्वंस कार्यों से जनित वायु प्रदूषण की रोकथाम के लिए कार्यदायी संस्थाओं के लिए बोर्ड के एप पर सेफ ऑडिट की व्यवस्था भी की गई है. उन्होंने बताया कि प्रदेश के 20 शहरों में 49 वायु गुणता अनुश्रवण केंद्रों और 25 शहरों में 78 स्थानों पर मैनुअल विधि से वायु गुणता की नियमित निगरानी की जा रही है. वहीं, जो यूपीपीसीबी के मानकों का पालन नहीं करेगा तो उन पर कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए गए है.