Breaking News

नहीं रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह, दिल्‍ली के AIIMS में ली अंतिम सांस

पूर्व केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री एवं बिहार की मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह का आज दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में इलाज के दौरान निधन हो गया। वह 74 वर्ष के थे। पारिवारिक सूत्रों ने यहां बताया कि फेफड़े के संक्रमण से जूझ रहे डॉ. सिंह को अभी हाल में दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। इससे पूर्व कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें पटना एम्स में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के बाद वह स्वस्थ हो गए थे। बाद में तबीयत खराब होने उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था । उनके परिवार में दो पुत्र और एक पुत्री हैं।

डॉ. सिंह ने दिल्ली में एम्स से ही 10 सितंबर को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को पत्र लिखकर पार्टी से इस्तीफा देने की घोषण की थी। उन्होंने अपने पत्र में लिखा था, “जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद 32 वर्षों तक आपके पीठ पीछे खड़ा रहा लेकिन अब नहीं। पार्टी नेता और आम जनों ने बड़ा स्नेह दिया, मुझे क्षमा करें।”

Dr. Raghuvansh Prasad Singh,...नहीं रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. रघुवंश  प्रसाद सिंह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरजेडी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिहार के दिग्गज नेता रघुवंश प्रसाद सिंह हमारे बीच नहीं रहे। मैं उन्हें नमन करता हूं। पीएम मोदी ने रघवंश बाबू को याद करते हुए कहा कि उनके निधन से बिहार और देश की राजनीति में शून्य पैदा हुआ है। उन्होंने कहा कि वे जमीन से जुड़े व्यक्ति थे और गरीबी को समझने वाले व्यक्ति थे। पीएम ने कहा कि उन्होंने पूरा जीवन बिहार के लिए संघर्ष में बिताया। वे जिस विचारधारा में पले बढ़े जीवन भर उसके जीने का प्रयास किया।

पीएम ने कहा कि जब वे बीजेपी के कार्यकर्ता के रूप में काम कर रहे थे, उसी समय से उनका रघुवंश बाबू से परिचय रहा। अनेक टीवी डिबेट में काफी वाद विवाद रहा। पीएम ने कहा कि जब रघवंश प्रसाद यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री थे तब बतौर गुजरात के सीएम वे उनसे मिलते रहते थे। पीएम ने कहा कि पिछले दो तीन दिनों से वह चर्चा में थे. उन्होंने कहा कि उनके भीतर एक मंथन चल रहा था, वे जिन आदर्शों को लेकर चले थे उसके साथ चलना अब उनके लिए मुमकिन नहीं रह गया था, उनका मन जद्दोजहद में था. तीन चार दिन पहले उन्होंने चिट्ठी लिखकर अपनी भावनाओं को प्रकट किया था। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिहार के विकास के लिए उन्होंने कुछ अपने विचार सीएम नीतीश कुमार को लिखे थे। वे सीएम नीतीश कुमार से अपील करते हैं कि इन विचारों पर मिलकर काम किया जाए।

वहीं, राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने डॉ. सिंह को मनाने के लिए जेल से गुरुवार को ही भावनात्मक चिट्ठी लिख कर चार दशक पुराने संबंधों का हवाला देते हुए पूरे अधिकार के साथ कहा था, “चार दशकों में हमने हर राजनीतिक, सामाजिक और यहां तक कि पारिवारिक मामलों में मिल-बैठकर ही विचार किया है। आप जल्द स्वस्थ हों, फिर बैठ के बात करेंगे। आप कहीं नहीं जा रहे हैं, समझ लीजिए। आपका लालू प्रसाद।”

गौरतलब है कि पूर्व सांसद रामा सिंह को राजद में लाए जाने की चर्चा के बाद से ही डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह नाराज थे। लालू प्रसाद यादव ने भी उन्हें मनाने की कोशिश की, इसी बीच यादव के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव ने डॉ. सिंह को लेकर विवादास्पद बयान दे दिया था कि ‘समुद्र से एक लोटा पानी निकल जाए तो कोई फर्क नहीं पड़ता।’ ऐसा समझा जाता है कि डॉ. सिंह इससे काफी क्षुब्ध थे और अपमानित महसूस कर रहे थे। अंत में उन्होंने पार्टी छोड़ने का निर्णय लिया।

Loading...

Raghuvansh Prasad Singh Died At The Age Of 74 In Delhi Aiims He Was On  Ventilator Rjd Leader - पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद का निधन, लालू  ने कहा- ये आपने क्या

समाजवादी नेता डॉ. सिंह ने बिहार के वैशाली लोकसभा क्षेत्र का कई बार प्रतिनिधित्व किया। 06 जून 1946 को वैशाली जिले के शाहपुर में जन्मे डॉ. सिंह ने बिहार विश्वविद्यालय से गणित में पीएचडी की उपाधि प्राप्‍त की। उन्हें ग्रामीण और कृषि क्षेत्र के बारे में महारथ हासिल था। युवावस्‍था में उन्‍होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण के नेतृत्‍व में हुए आंदोलनों में भाग लिया। वर्ष 1973 में उन्‍हें संयुक्‍त सोशलिस्‍ट पार्टी का सचिव बनाया गया। 1977 से 1990 तक वे बिहार से राज्‍यसभा के सदस्‍य भी रहे। वर्ष 1977 से 1979 तक वे बिहार के ऊर्जा मंत्री रहे।

इसके बाद उन्‍हें लोकदल का अध्‍यक्ष बनाया गया। वर्ष 1985 से 1990 के दौरान वे लोक लेखा समिति के अध्‍यक्ष रहे। लोकसभा के सदस्‍य के रूप में उनका पहला कार्यकाल वर्ष 1996 से प्रारंभ हुआ। वे 1996 के लोकसभा चुनाव में निर्वाचित हुए। लोकसभा में दूसरी बार वे 1998 में निर्वाचित हुए तथा 1999 में तीसरी बार लोकसभा के सदस्य बने।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बिहार के दिग्गज नेता डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह का  निधन | patna - News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग  न्यूज़ ...

डॉ. सिंह इस कार्यकाल में गृह मामलों की समिति के सदस्‍य रहे। उन्हें वर्ष 2004 में चौथी बार लोकसभा सदस्‍य के रूप में चुना गया। वह संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के मनमोहन सिंह सरकार में 23 मई 2004 से 2009 तक वे केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रहे। इस कार्यकाल में उन्हें लोक कल्याणकारी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) की परिकल्पना और उसे लागू करने का श्रेय प्राप्त है। इसके बाद वर्ष 2009 के लोकसभा चुनावों में उन्‍होंने पांचवी बार जीत दर्ज की। वह पांच बार लोकसभा सदस्य और तीन बार केंद्रीय मंत्री रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/