Breaking News

चीन की चाल से वाकिफ है भारत, LAC के चारों डिवीजन से अभी वापस नहीं बुलाया जाएगा 32 हजार जवानों को

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेना के बीच चल रहे विवाद को भले ही सैन्य बातचीत के जरिए शांत करने की कोशिश की जा रही हो लेकिन चीनी सेना की चालबाजी को देखते हुए LAC के चार डिवीजन में तैनात सेना को अभी वापस नहीं बुलाया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक इन सैनिकों की तैनाती लद्दाख में अग्रिम मोर्चे पर जारी रहेगी। जानकारी के अनुसार इन चार डिवीजनों में करीब 32 हजार जवान तैनात हैं।

The Netizen News/ Netizen News

सेना के सूत्रों का कहना है कि चीन की किसी भी हरकत का जवाब देने के लिए मौजूदा सैनिकों की संख्या पर्याप्त है। जब तक चीन पूरी तरह से अपनी सेना को पीछे हटने के लिए नहीं कहता तब तक भारत के जवान सीमा पर इसी तरह से डटे रहेंगे। सर्दियों को लेकर अभी से सेना ने तैयारी शुरू कर दी है। एलएसी पर जवानों के साथ ही ​पास के वायुसेना के सभी स्टेशनों पर भी तैनाती पहले की तरह ही जारी रहेगी। बता दें कि चीन सीमा के निकटवर्ती क्षेत्रों में करीब 10-12 वायुसेना अड्डों को हाई अलर्ट पर रखा गया है तथा अतिरिक्त लड़ाकू विमानों की तैनाती की गई है।

Loading...

चीनी सेना को सबक सिखाने के लिए ...

बता दें कि पूर्वी लद्दाख से सेना को वापस न बुलाए जाने के कई कारण हैं। पहला, एलएसी में शांति बहाल करने के लिए जारी कोशिशों के बावजूद चीनी सेनाएं कई स्थानों पर अभी भी मौजूद हैं। दूसरा चीनी सेना एलएसी के दूसरी तरफ अभी भी काफी संख्या में डटी हुई है। खबर है कि एलएसी के दूसरी तरफ 20 हजार के करीब सैनिक मौजूद हैं। तीसरा 15 जून की रात दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद चीन के रवैये में ज्यादा बदलाव नहीं आया है। शांति वार्ता के दौरान हर बार चीन अपनी सेना पीछे हटाने की बात करता है लेकिन हर बार अपनी बात से मुकर जाता है। ऐसे में चीन की सेना पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

Loading...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/