Breaking News

गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे ने अदालत में सुसाइड करने की दी धमकी! जानें वजह

कानपुर (Kanpur) के कुख्यात अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) को उसके अंजाम तक तो पहुंचा दिया गया है. लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि जैसे पुलिस उसके हर आपराधिक इतिहास को कुरेद-कुरेद कर खत्म कर देना चाहती है. इसलिए विकास दुबे और उसके खूनी खेल से जुड़े किसी भी शख्स को पुलिस बख्शने के मूड में नहीं है और उन्हें पकड़ने के साथ ही विकास की काली कमाई को भी पुलिस जला देना चाहती है. यहां तक कि उसकी हराम की कमाई से बनी चीजों को भी पुलिस बर्बाद करने के लिए पूरा प्रयास कर रही है. लेकिन इस बीच गैंगस्टर की पत्नी रिचा दुबे (Vikas Dubey Wife Richa Dubey) का बड़ा बयान आया है. दरअसल रिचा दुबे का कहना है कि यदि उनका मकान गिरा तो सुसाइड (Suicide) के अलावा कोई और रास्ता उसके पास नहीं होगा.

बता दें कि रिचा दुबे एलडीए की विहित प्राधिकारी रितु सुहास की अदालत में पेश हुई थीं. यहां पर उन्होंने अदालत से अपील की, कि उनका बना बनाया मकान न गिराया जाएगा. क्योंकि ले देकर उनके पास सिर्फ इसी मकान का सहारा रह गया है. अब उनके पास कुछ और नहीं बचा है. क्योंकि सभी बैंक खातों से लेकर हर आर्थिक सहारे को पुलिस पहले से ही सीज कर चुकी है. यहां तक कि मकान से जुड़े दस्तावेज भी पुलिस के हवाले है. ऐसे में यदि मकान गिरा दिया गया तो आत्महत्या करने के अलावा कोई और रास्ता नहीं रह जाएगा. इसलिए मेहरबानी करके उनके घर को न तोड़ा जाए.

रिचा के मुताबिक अदालत उन्हें थोड़ा और समय दे. ऐसे में गैंगस्टर की पत्नी की दलीलें सुनने के बाद विहित प्राधिकारी की ओर से उन्हें नए शमन योजना के आधार पर मकान का कंपाउंडिंग मैप दाखिल करने की मोहलत दे दी गई है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लखनऊ के इंद्रलोक कॉलोनी में स्थित विकास के घर पर लखनऊ विकास प्राधिकरण की ओर से नोटिस लगाया गया था. जिसमें एलडीए की तरफ से स्वीकृत मकान के नक्शे को 9 जुलाई तक जमा करने का आदेश दिया गया था. हालांकि इस नोटिस से पहले विकास के लखनऊ वाले घर में पुलिस की ओर से छानबीन भी की गई थी. जिसमें कुछ खास चीजें हाथ नहीं लगी थीं.

Loading...

लेकिन इसके बाद जब तलाशी के लिए एलडीए की टीम विकास के घर पहुंची तो वहां पर उन्हें मकान पर ताला लटका मिला. जिसकी वजह से टीम कमरों और बेसमेंट की नापजोख नहीं कर पाई और बाहर से ही उन्हें नाप लेकर वहां से जाना पड़ा. फिलहाल कृष्णानगर इंस्पेक्टर डीके उपाध्याय की अध्यक्षता में पुलिस की टीम ने विकास के मकान से मिले सभी फाइलों और कागजातों को जब्त कर लिया है. इस बारे में कुछ अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया है कि इन कागजातों में राजनीतिक पार्टियों के कई लेटरपैड और न जाने कितने प्रार्थनापत्र पड़े हैं. इसके अलावा तलाशी में टीम ने एक डायरी और जमीनों से जुड़ी कई फाइलें भी बरामद की हैं. जिससे कई और खुलासे होने की उम्मीद लगाई जा रही है.

Loading...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/